गया जंक्शन पर सुरक्षा चाक-चौबंद:'अग्निपथ' के विरोध से गया के मखदुमपुर, नदवां और तरेगना में रुकी ट्रेनें ​​​​​​​

गया6 महीने पहले
गया जंक्शन के अंदर व बाहर की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

अग्निपथ योजना के विरोध में सेना के अभ्यर्थियों द्वारा उग्र प्रदर्शन की आशंका को देखते हुए सीनियर कमांडेंट आरपीएफ आशीष मिश्रा ने खुद मोर्चा संभाल रखा है। वह खुद ही सुबह से ही गया रेलवे स्टेशन पर डटे पड़े हैं। उन्होंने गया जंक्शन के अंदर व बाहर की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया और तमाम संभावित प्वाइंट को चिह्नित कर फोर्स की तैनाती करवाई। साथ ही आदेश दिया कि किसी भी तरह की हरकत नजर आए एक्शन में आएं और अधिकारियों को सूचित करें। साथ ही प्वाइंट छोड़ें नहीं। उन्होंने यह भी कहा कि आम विद्यार्थियों को किसी प्रकार की कोई परेशानी न हो। स्टेशन के अंदर प्रवेश करने वाले छात्रों का टिकट के बाबत पूछताछ जरूर करें।

इधर, सीनियर कमांडेंट आशीष मिश्रा ने कहा कि जंक्शन व यात्रियों की सुरक्षा के लिए हम पूरी तरह से मुस्तैद हैं। जिले के पुलिस अधिकारियों व प्रशासन के साथ मिल कर हमने पूरी प्लानिंग तैयार कर रखी है। पर्याप्त संख्या में फोर्स जंक्शन की सुरक्षा के लिए इंतजाम किए गए हैं। छात्रों को स्टेशन परिसर के बाहर या अंदर प्रदर्शन नहीं करने दिया जाएगा।

वहीं दूसरी ओर जहानाबाद में छात्रों द्वारा किए प्रदर्शन की वजह से गया को आने-जाने वाली कई ट्रेनें प्रभावित हुईं। खासकर वे ट्रेनें प्रभावित हुईं जिन्हें या तो पटना से गया आना था या फिर गया से पटना को जाना था। सुबह से लेकर दोपहर 12:30 तक पटना से आने व जाने वाली ट्रेनें विभिन्न स्थानों पर प्रभावित हुईं। सूचना के आधार ट्रेनों को विभिन्न स्टेशनों पर रोका गया।

प्रभावित ट्रेनें

13347 गया के मखदुमपुर, 12365 नदवां में, 03337 तरेगना में, 03264 टेहटा में, 03335 जहानाबाद में प्रभावित हुईं। इसी तरीके से 03294 बक्सर में, 20802 डीडीयू में,03356 तिलैया में, 05404 किऊल में, 18625 तरेगना में, 03370 बेला में 11:30 बजे रोकी गई।

खबरें और भी हैं...