• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Shri Ramcharitramanas Navahana Parayan Recitation Began; 15 Bhudev Came To Mathura In Navahan Parayan Text, 15 Brahmins Also Arrived From Ramanuja Math Of Gaya

प्रभु ‘श्रीराम’ का सजा दरबार:श्रीरामचरित्रमानस नवाह्न पारायण पाठ शुरू हुआ; नवाह्न पारायण पाठ में 15 भूदेव मथुरा आए, गया के रामानुज मठ से भी पहुंचे 15 ब्राह्मण

गया10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
श्रीरामचरित मानस नवाह्व पारायण का पाठ करते आचार्य। - Dainik Bhaskar
श्रीरामचरित मानस नवाह्व पारायण का पाठ करते आचार्य।

न आजाद पार्क, न धामी टोला और ना गांधी मैदान, बल्कि पिछले साल की तरह इस बार भी डालमिया हाउस में प्रभु श्रीराम का दरबार सजा। यहां भगवान श्रीराम, सीता, लक्ष्मण, हनुमान, भरत, शत्रुघ्न के साथ-साथ गणपति बप्पा की मनमोहक प्रतिमाएं विराजमान की गई है। गुरुवार को कलश स्थापना व विशेष पूजा के बाद मथुरा से आए भूदेवों द्वारा श्रीराम चरित्र मानस नवाहृ पारायण पाठ विधिवत तरीके से शुरू किया।

आचार्य श्रीराधाकांत जी महाराज के नेतृत्व में 31 ब्राह्मण सोशल डिस्टेंस बनाकर नवाहृ पारायण पाठ कर रहे हैं। अब नवरात्र के नौंवी तक हर दिन सुबह 08:00 बजे वेदी पूजन होगा। 08:30 से 11:15 तक और 11:45 से 02:00 बजे तक नवाहृ पारायण पाठ होगा। शाम में आरती व कीर्तन किया जाएगा। बता दें कि सुबह में कलश स्थापना के लिए विशेष पूजा शिवकैलाश डालमिया उर्फ मुन्ना डालमिया और रेणु डालमिया ने संयुक्त रूप से की।

कोविड 19 के कारण सिर्फ दर्शन की अनुमति
श्रीराम चरित मानस नवाहृ पारायण यज्ञ समिति के अध्यक्ष शिवकैलाश डालमिया ने बताया कि कोविड 19 के कारण पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी डालमिया हाउस में नवाहृ पाठ हो रहा है। यहां आम श्रद्धालुओं को भी दर्शन की अनुमति है, लेकिन परिक्रमा नहीं कर सकेंगे। नवाहृ पारायण पाठ में सोशल डिस्टेंस का पूरा ख्याल रखा गया है। उन्होंने बताया कि राम दरबार में भगवान की प्रतिमाएं साढ़े तीन फीट की है।

15 को हवन के बाद होगा समापन
समिति के सचिव विनोद जसरापुरिया ने बताया कि नवाहृ परायण पाठ 15 अक्टूबर को हवन के बाद समाप्त होगा। सभी विद्वानों के ठहरने से लेकर खाने-पीने तक की उचित व्यवस्था की गई है। इधर शहर के गोलपत्थर स्थित हनुमान मंदिर में श्रीराम जय राम जय जय राम का अखंड पाठ चल रहा है। इस पाठ में भी ब्राह्मणों के बीच सोशल डिस्टेंस को मेंटेंन किया गया है। अखंड पाठ से पूरा इलाका भक्तिमय हो उठा है।

खबरें और भी हैं...