वट सावित्री पूजा / गमले में बरगद का पौधा लगा सुहागिनों ने वट वृक्ष से मांगी पति की लंबी आयु व संतान सुख का वरदान

Suhagins sought a banyan plant in the pot and a boon for the husband's long life and child happiness
X
Suhagins sought a banyan plant in the pot and a boon for the husband's long life and child happiness

  • सोलह श्रृंगार से सजी महिलाओं ने की वट सावित्री पूजा, बांधा रक्षा सूत्र, नवविवाहिताओं में दिखा उत्साह
  • लॉकडाउन के कारण सामूहिक पूजा के लिए कम संख्या में वट वृक्ष के पास पहुंचीं महिलाएं

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

गया. सुहागिनों का पर्व वट सावित्री पूजा जिले में शुक्रवार को श्रद्धा व उत्साह के साथ मनाया गया। लॉकडाउन के कारण काफी संख्या में महिलाएं घर पर ही वट सावित्री की पूजा की। घर के गमले में वट वृक्ष का पौधा लगाकर रक्षा सूत्र धागा बांधा। परिक्रमा भी की। सोलह श्रृंगार से सजी महिलाओं ने वट वृक्ष की पूजा कर प्रसाद चढ़ाया और पति की लंबी आयु का वरदान मांगा।

इधर कई महिलाओं ने शहर के विष्णुपद, चांदचौरा,  बाइपास,  दिग्घी तालाब,  चाणक्यपुरी कॉलोनी, एपी कॉलोनी, फायर बिग्रेड, छोटकी नवादा, जयप्रकाश नारायण अस्पताल सहित अन्य स्थानों में स्थित वट वृक्ष की पूजा की। महिलाओं ने सिंदूर,  फूल,  अक्षत,  चना,  फल और मिठाई से सावित्री, सत्यवान और यमराज की पूजा अर्चना की। इसके बाद कच्चे सूत को हल्दी में रंग वट वृक्ष में लपेटते हुए 108 बार परिक्रमा की, साथ ही वट वृक्ष का पत्ता बालों में लगाया, साथ ही वट वृक्ष के नीचे बैठ सावित्री और सत्यवान की कथा सुनी। शनिवार को पारण कर पर्व का समापन करेगी।
हाथों में पूजा की थाली व बांस का पंखा
वट सावित्री पूजा को लेकर महिलाओं की भीड़ अहले सुबह ज्यादा देखने को मिली। सूर्योदय के साथ ही हाथों में पूजा की थाली व बांस का पंखा लिए महिलाएं वट वृक्ष के पास पहुंची। नवविवाहिता इस पर्व को लेकर खासा उत्साह में दिखीं। शादी का जोड़ा पहने नवविवाहिताओं ने अपने पति के साथ वट वृक्ष की पूजा अर्चना की। वट वृक्ष को पंखा झला और घर पर आकर अपने पति को भी पंखा झला। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना