जिउतिया व्रत ::निर्जला व्रत रख व्रतियों ने फल्गु में लगाई डुबकी, जीमूतवाहन भगवान की हुई पूजा

गया6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिउतिया व्रत को लेकर स्नान के लिए सीढ़िया घाट पर जुटी महिलाओं की भीड़। - Dainik Bhaskar
जिउतिया व्रत को लेकर स्नान के लिए सीढ़िया घाट पर जुटी महिलाओं की भीड़।

संतान की लंबी आयु, सुख, समृद्धि व वैभव की कामना को लेकर रविवार को महिलाओं ने जिउतिया पर्व को लेकर निर्जला उपवास का व्रत रखा। दिन भर उपवास पर रहने के बाद भी घरों में व्रतियों ने पुरुकिया, ठेकुआ व सादा पापड़ बनाया, फिर दोपहर बाद स्नान के लिए शहर के सीढिया घाट, ब्राह्मणी घाट, पितामहेश्वर व देवघाट पर पहुंची।

व्रतियों ने मोक्षदायिनी फल्गु में डुबकी लगाई। पवित्र स्नान के बाद व्रतियों ने घाट पर ही विधि-विधान के साथ राजा जीमूतवाहन की पूजा अर्चना की, साथ ही ब्राह्मणों से चुल्लू-सियारिन की कथा का श्रवण किया। कथा के बाद ब्राह्मणों को दान दक्षिणा दिया।

इधर कई घरों में भगवान शिव, पार्वती, गणेश, राजा जीमूतवाहन, चुल्लू व सियारिन की मूरत बना कर पूजा अर्चना की। पुष्प, फल व मिष्ठान चढ़ाएं। बता दें कि जिउतिया पर्व की शुरूआत महिलाओं ने 17 सितंबर को नहाय-खाय के साथ किया था। 19 सितंबर काे पारण कर पर्व का विधिवत समापन करेगी।

खबरें और भी हैं...