• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • The Importance Of The Tricolor And The Values Of Freedom Were Explained By Doing Street Plays In The Village.

सीयूएसबी में हर घर तिरंगा कार्यक्रम:गांव में नुक्कड़ नाटक कर तिरंगे के महत्व व आजादी के मूल्यों का किया बखान

गया4 महीने पहले

भारत की आज़ादी के 75 वें वर्षगांठ के अवसर पर देशभर में आयोजित "आजादी का अमृत महोत्सव" के तहत दक्षिण बिहार केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूएसबी) ‘हर घर तिरंगा‘ उत्सव मना रहा है। जन संपर्क पदाधिकारी मुदस्सीर आलम ने इस अभियान के तहत विश्वविद्यालय में पूरे हफ्ते कई प्रकार के कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है। इसी के अंतर्गत सोमवार को विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों ने नेपा गांव में नुक्कड़ नाटक किया। नुक्कड़ नाटक का विषय "हर घर तिरंगा" था। इसमें सीयूएसबी के छात्र- छात्राओं ने तिरंगे के महत्व एवं आजादी के मूल्यों को सरल तरीके से प्रस्तुत किया।

इस टीम का नेतृत्व कामर्स विभाग के सहायक प्राध्यापक डॉ. पावस कुमार एवं डॉ. रचना विश्वकर्मा ने किया। कार्यक्रम में नेपा के माध्यमिक विद्यालय के बच्चों ने भी शिरकत की। गांव के लोग कार्यक्रम को लेकर काफी रोमांचित दिखे। कार्यक्रम में नेपा माध्यमिक विद्यालय के हेडमास्टर राजेंद्र सिंह ने सीयूएसबी के प्राध्यापकों की टीम के साथ अभियान को सफल बनाया।

विश्वविद्यालय हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत पूरे सप्ताह कई प्रकार के कार्यक्रम का आयोजन कर रहा है। सभी कार्यक्रमों के केंद्र में विवि परिसर के समीप स्थित नेपा गांव को रखा गया है जिसका चयन विश्वविद्यालय की एक समिति ने किया था।

हर घर तिरंगा कार्यक्रम के तहत आगामी 10 से 12 अगस्त को विश्वविद्यालय में गायन प्रतियोगिता, लेख प्रतियोगिता एवं चित्रकारी प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। हर घर तिरंगा कार्यक्रम का समापन 13 अगस्त को होगा जब विश्वविद्यालय परिवार नेपा के हर घर पर गांव वालों के सहयोग से तिरंगा फहराएगा। इस कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर कामेश्वर नाथ सिंह भी शिरकत करेंगे और नेपा गांव जाकर गांववासियों को संबोधित करेंगे।

खबरें और भी हैं...