पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

फ्रीडम मार्च:भारत की संप्रभुता के लिए तिब्बत की आजादी जरूरी

गया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • तिब्बत की आजादी व भारत की सीमा पर शांति के फ्रीडम मार्च के दौरान पदयात्री पहुंचे बोधगया

चीनी सामानों व उत्पादों का पूर्णतया बहिष्कार करें, तिब्बत को आजाद देश माना जाए और उसकी इसी रूप में पहचान बने और तिब्बती पर्यावरण काे बचाना जरूरी है। यह सभी भारत की आजादी व उसकी संप्रभुता के लिए जरूरी है। हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला से पदयात्रा कर 1590 किमी की दूरी तय कर बोधगया पहुंचे तिब्बती पदयात्री तेनजिंग धोनदुप व तेनजिंग नीमा ने उक्त बातें तिब्बत मंदिर में हुए प्रेसवार्ता के दौरान गुरूवार को कही।

इस मौके पर सुदेश कुमार चंद्रवंशी, पूर्व विधायक डा विनोद कुमार यादवेंदु व अजीत कुमार चंद्रवंशी सहित अन्य भी मौजूद थे। तेनजिंग धोनदुप ने बताया, पदयात्रा 02 नवंबर को शुरू हुई थी। दो महीना और 05 दिन में 1590 किमी की दूरी तय की गई। इस दौरान प्रमुख शहरों में मीडिया द्वारा अपनी बात आम लोगों के बीच जनसमर्थन के लिए दी।

पदयात्रा सिक्किम के नाथूला में खत्म होगी। उन्होंने कहा, चीन भारत का बेहतर पड़ोसी कभी नहीं रहा। वर्तमान में लद्दाख में उसकी नीति विस्तारवाद का नमूना है, जिसकी भारतीय सैनिकों ने मजबूत जवाब दिया। तिब्बत की आजादी के साथ ही भारत की 3500 किमी की सीमा विवाद स्वत: खत्म हो जाएगी।

पदयात्रा का मकसद
पदयात्रा का मकसद चीन के बुरे कर्मों और कोविड-19 के फैलाव में उसकी भूमिका की जानकारी देना है। चीन का मॉडल छल व उत्पीड़न का है, जिससे कोई नहीं बचा है। चीन द्वारा तिब्बत के पर्यावरण के नुकसान पहुंचाए जाने और उसकी भारत सहित एशियाई देशों पर पड़ने वाले प्रभाव की जानकारी देना है। तिब्बत में मानवाधिकार का हनन हो रहा है।

90 दिनों की है पदयात्रा
02 नवंबर2020 को शुरू पदयात्रा 90 दिनों में 2100 किमी की दूरी तय कर सिक्किम के नाथूला में खत्म होगी। बोधगया से पदयात्री सिलिगुड़ी बंगाल के रास्ते सिक्किम पहुंचेगी। हरियाणा, पंजाब, लखनऊ व वाराणसी के रास्ते पदयात्री 06 जनवरी की रात को बोधगया पहुंचें थे।

खनिज व खेती पर कब्जा: डा यादवेंदु ने मीडिया को बताया कि चीन ने तिब्बत को दो भागों में बांटा है। उसके खनिज व खेती पर कब्जा कर दोहन कर रहा है। खनिज से तिब्बत को लाभ का हिस्सा नहीं मिल रहा, बल्कि चीन खुद पर खर्च कर रहा है। तिब्बत की आजादी भारत के लिए जरूरी है। शोषण मुक्त व स्वतंत्र तिब्बत समय की मांग है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें