शिक्षा सह सांस्कृतिक महोत्सव:लक्ष्य प्राप्ति को निष्ठा व ईमानदारी के साथ कड़ी मेहनत करें प्रशिक्षु

गया9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सांस्कृतिक महोत्सव कलतरंग में शामिल लोग - Dainik Bhaskar
सांस्कृतिक महोत्सव कलतरंग में शामिल लोग

गया कॉलेज के बीएड डिपार्टमेंट के प्रशिक्षुओं ने शनिवार को गया शहर स्थित शहीद आरक्षी मध्य विद्यालय में शिक्षा सह सांस्कृतिक महोत्सव कलतरंग का आयोजन किया। इस दौरान कई गतिविधियां भी आयोजित की गई। विद्यालय के बच्चों ने सामाजिक समस्याओं पर नाटक की प्रस्तुति की और छात्राओं ने मनमोहक समूह नृत्य भी प्रस्तुत विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कृत भी किया गया।

गया कॉलेज के प्राचार्य डॉ. दिनेश प्रसाद सिन्हा के दिशा-निर्देश पर अभ्यास शिक्षण के क्रम में इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया। बीएड प्रशिक्षुओं व विद्यालय के विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए विभागाध्यक्ष डॉ. धनंजय धीरज ने कहा कि जीवन में सतत संघर्ष से ही सफलता हासिल की जाती है। सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता।

कहा कि प्रत्येक विद्यार्थी को जीवन में सफल होने के लिए सर्वप्रथम अपने जीवन लक्ष्यों का निर्धारण करना चाहिए और उस जीवन लक्ष्य की प्राप्ति के लिए पूर्ण निष्ठा व ईमानदारी से कड़ी मेहनत करनी चाहिए। साथ ही अभिप्रेरणा के लिए सफल व्यक्तियों व महापुरुषों की जीवनी व उनकी आत्मकथाओं का अध्ययन करने की भी सलाह एचओडी ने दी।

घर पर भी रूटीन के अनुसार ही करें काम

प्रशिक्षुओं को बताया गया कि यदि किसी भी विषय में आपको कठिनाई या समस्या आती है तो उस विषय की समझ विकसित करने के लिए आप अपने गुरुजनों की मदद लें। उस पर अत्यधिक समय दें। कहा गया कि विद्यालय के अलावे घर पर भी एक समय सारणी का निर्माण करें।

उसमें पढ़ाई खेलकूद व मनोरंजन के लिए पर्याप्त स्थान दें और उसका शत- प्रतिशत अनुपालन करने का प्रयत्न करें। कहा कि जिस प्रकार से इन विद्यार्थियों ने खेलकूद व सांस्कृतिक कार्यक्रम में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया है, आशा है कि यह विद्यार्थी आने वाले दिनों में राज्य व राष्ट्रीय स्तर पर अपने विद्यालय की और राज्य की पहचान बना सकेंगे।

नेशनल इंटीग्रेशन कैंप से लौटे यश हुए सम्मानित

गया कॉलेज राष्ट्रीय सेवा योजना के टीम लीडर यश वर्मा का राष्ट्रीय एकीकरण शिविर से लौटने पर शनिवार को प्राचार्य डॉ. सिन्हा ने प्रमाण पत्र व मोमेंटो देकर उन्हें सम्मानित किया। प्राचार्य ने कहा कि यश ने अपने कॉलेज के साथ साथ पूरे बिहार का नाम राष्ट्रीय एकीकरण शिविर में रौशन किया है। कहा कि एनएसएस, एनसीसी हो या फिर खेलकूद कॉलेज द्वारा विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करने के लिए राष्ट्रीय स्तर की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। छात्र अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करें, कॉलेज उन्हें मौका और मंच देगा। बताया गया कि श्री वर्मा ने राष्ट्रीय एकीकरण शिविर में एनएसएस क्लैपिंग में सातों दिन लीड किया। इनके द्वारा बिहार की संस्कृति पर आधारित आस्था के महापर्व छठ पूजा पर आधारित प्रस्तुति दी गई। जिसमें बिहार को नंबर वन रैंक प्राप्त हुआ। एनआईसी कैंप में मौका देने के लिए प्रोग्राम ऑफिसर सत्येंद्र कुमार व मगध विश्वविद्यालय के एनएसएस को-ऑर्डिनेटर अंजनी घोष को यश ने धन्यवाद दिया।

आपके कंधों पर है भविष्य संवारने की जिम्मेवारी
प्रशिक्षुओं को बताया गया कि देश के नौनिहालों के सपनों को साकार करने की जिम्मेवारी आप के ही कंधों पर है। शिक्षक अपने बेहतर प्रयासों से विद्यार्थी के जीवन लक्ष्य की राह आसान कर सकते हैं। शहीद आरक्षी मध्य विद्यालय की प्रभारी शीला कुमारी ने कहा कि शिक्षा शास्त्र विभाग गया कॉलेज गया के बीएड प्रशिक्षुओं का प्रदर्शन शैक्षणिक व सह शैक्षणिक क्षेत्र में अव्वल है।

मौके पर विभाग के सहायक प्राध्यापक सह विद्यालय पर्यवेक्षक अमरेंद्र कुमार, डॉ. अभिषेक कुमार, निखत परवीन, डॉ. आरएन प्रियदर्शनी, सदरे आलम, अजय शर्मा, शिक्षक शक्ति राज और सहायक अश्वनी कुमार व अंजनी कुमार उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन बीएड की छात्रा च ग्रुप लीडर शालिनी ने किया।

खबरें और भी हैं...