• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Gaya
  • Will Be Involved In Discussions Related To Development In Naxal Areas And Cultural Heritage Of The State

तीन दिवसीय परिभ्रमण पर गया पहुंचे 18 ट्रेनी आईएएस:नक्सल क्षेत्रों में विकास और राज्य के सांस्कृतिक विरासत से संबंधित परिचर्चा में होंगे शामिल

गयाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु पदाधिकारी - Dainik Bhaskar
भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु पदाधिकारी

भारतीय प्रशासनिक सेवा 2020 बैच के 18 प्रशिक्षु मंगलवार को तीन दिवसीय परिभ्रमण पर गया पहुंचे। इनलोगों को गया व बोधगया के ऐतिहासिक और पौराणिक स्थलों का परिभ्रमण कराया जाएगा। उप निदेशक एवं पाठ्यक्रम समन्वयक, भारतीय प्रशासनिक सेवा, व्यावसायिक पाठ्यक्रम चरण 11 (2020 बैच) लाल बहादुर शास्त्री, राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी, भारत सरकार, मसूरी द्वारा सूचित किया गया है कि 2020 बैच के 18 भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रशिक्षु पदाधिकारी के ग्रुप संख्या 6 का दिनांक 14 दिसंबर, 2021 से 17 दिसंबर, 2021 तक तीन दिवसीय गया जिला अंतर्गत परिभ्रमण कार्यक्रम निर्धारित है। इस परिभ्रमण कार्यक्रम का उद्देश्य सांस्कृतिक स्थलों और आतंकवाद विरोधी गतिविधियों को लेकर जिला प्रशासन से संबंध रखना विषय पर प्रशिक्षण पदाधिकारियों के दल को अवगत कराया जाना है।

इसी परिप्रेक्ष्य में डीएम अभिषेक सिंह के निर्देशानुसार गया जिला अंतर्गत प्रस्तावित शीतकालीन अध्ययन यात्रा में आगंतुकों प्रशिक्षु पदाधिकारी, भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारत सरकार को गया व बोधगया के ऐतिहासिक और पौराणिक स्थलों का परिभ्रमण कराया जाएगा। जिसमें बोधगया स्थित महाबोधि मंदिर, 80 फीट महाबोधि मंदिर, विभिन्न मोनास्ट्रीज, विष्णुपद मंदिर, डुंगेश्वरी घाटी, गेहलौर घाटी इत्यादि शामिल हैं। साथ ही 15 दिसंबर, 2021 को गया जिला अंतर्गत आंगनबाड़ी केंद्र, विशेष केंद्रीय सहायता योजना, प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, विद्यालय, वामपंथ उग्रवाद प्रभावित क्षेत्रों में विकासात्मक कार्य का जायजा लिया जाएगा। 16 दिसंबर को समाहरणालय सभाकक्ष में नक्सल क्षेत्रों में विकास कार्यों व राज्य के सांस्कृतिक विरासत से संबंधित परिचर्चा में भाग लिया जाएगा। प्रस्तावित कार्यक्रम के अनुसार मंगलवार को प्रशिक्षु पदाधिकारियों ने बोधगया स्थित अंतर्राष्ट्रीय धार्मिक व पर्यटक महाबोधि मंदिर का भ्रमण किया। सभी प्रशिक्षु पदाधिकारियों ने महाबोधि मंदिर में पूजा अर्चना की गई और महाबोधि वृक्ष व अन्य स्थानों का भ्रमण भी किया।

खबरें और भी हैं...