स्वास्थ्य मेला:हर माह 14 तारीख को लगेगा स्वास्थ्य मेला

गोपालगंज9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

अब सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में स्वास्थ्य के प्रति जागरूक करने तथा बेहतर स्वास्थ्य मुहैया कराने के लिए स्वास्थ्य विभाग प्रतिबद्ध है। सूबे के स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव के निर्देश पर स्वास्थ्य को गुणवत्तापूर्ण उपलब्ध कराने का हर संभव प्रयास किया जा रहा है। अब जिले के सभी प्रखंडों में अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों को हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर के रूप मे विकसित किया गया है। इसका मुख्य उद्देश जनमानस को सौहार्दपूर्ण वातावरण में विश्वसनीय गुणवत्तापूर्ण एवं विस्तारित प्राथमिक स्वास्थ सुविधा उपलब्ध कराना है। केंद्र सरकार द्वारा आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत गरीब कमजोर एवं मध्यम वर्ग के लोगों को सभी तरह की स्वास्थ्य उपलब्ध कराई जाती है। ग्रामीणों को समय रहते हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर पर ब्लड प्रेशर, डायबिटीज व कैंसर, मातृ स्वास्थ्य और डिलीवरी की सुविधा, नवजात और बच्चों के स्वास्थ्य, किशोर स्वास्थ्य सुविधा, कॉन्ट्रासेप्टिव सुविधा और संक्रामक, गैर संक्रामक रोगों के प्रबंधन की सुविधा, आंख, नाक, कान व गले से संबंधित बीमारियों का इलाज किया जाता है. गंभीर बीमारियों का लक्षण पता चलने के बाद मरीज को जिला अस्पताल में रेफर कर दिया जाता है। राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार के निर्देशानुसार सभी क्रियाशील हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर पर प्रत्येक माह की 14 तारीख को स्वास्थ्य मेला का आयोजन करने का निर्देश दिया गया है. इसके लिए आयोजित की जानी वाली गतिविधियों की सूचि केंद्र सरकार द्वारा जारी की गयी है। अब स्वास्थ्य मेला के दौरान आयोजित होने वाली गतिविधियों को एचडब्लूसी पोर्टल पर उपलब्ध फॉर्मेट में भरा जाना है। इस बाबत कार्यपालक निदेशक, राज्य स्वास्थ्य समिति, बिहार संजय कुमार सिंह ने सभी सिविल सर्जन को पत्र जारी कर आवश्यक निर्देश दिए हैं। स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए ग्रामीण स्तर पर ब्लड शुगर, बीपी,एचआईवी, टीबी, कोलेस्ट्रॉल इत्यादि 30 से ज्यादा प्रकार की जांच सुविधाएं हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर पर होती है. इसके अलावा संबंधित बीमारियों के लिए सभी प्रकार की दवाइयां भी दी जाती हैं. उन दवाओं का किस प्रकार उपयोग किया जाए इसका भी परामर्श अस्पताल में आने वाले सभी लोगों को दिया जाता है. पहले प्राइमरी हेल्थ सेंटर में मां और बच्चे के स्वास्थ्य पर ध्यान दिया जाता था. अब उसी केंद्र को ‘हेल्थ एंड वैलनेस सेंटर’ के तौर पर विकसित किया गया है।

खबरें और भी हैं...