पति के श्राद्ध के लिए भीख मांग रही महिला:गोपालगंज की महिला को मांगनी पड़ रही भीख, रुपए जमा कर करेगी मृत पति का श्राद्ध

गोपालगंज5 महीने पहले
सड़कों पर भीख मांगती महिला।

गोपालगंज की एक वृद्ध महिला हफ्ते भर से भीख मांग रही है। वजह कि उसे अपने पति का श्राद्ध करना है। पति का अंतिम संस्कार भी स्थानीय मुखिया से मिले रुपयों से किया। अब सामाजिक दायित्वों की पूर्ति और मृत आत्मा की शांति के लिए श्राद्ध कर्म की जरूरत ने उसे भीख मांगने पर मजबूर कर दिया है।

जानकारी के अनुसार महिला कलावती देवी सदर प्रखंड के बिशुनपुर गांव की रहनेवाली है। उसके पति सुदामा महतो की 3 साल की बीमारी के बाद हाल ही में मौत हो गई थी। महिला को कोई संतान नहीं है। परिवार के अन्य सदस्य भी इस दुख की घड़ी में साथ नहीं दे रहे।

3 साल से पैरालाइसिस का शिकार था पति
कलावती के अनुसार उनके पास पहले अपना खेत था। पति खेती कर भरणपोषण करते थे। जिंदगी सही से कट रही थी, लेकिन बच्चे नहीं होने का दुःख सता रहा था। फिर 3 साल पहले पति को पैरालाइसिस हो जाने के कारण वे बेड पर पड़ गए। इस बीच पाटीदारों ने खेत हड़प लिया। अब उसके ऊपर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा, लेकिन वह दूसरों के खेतों में काम कर खुद और पति का पेट पालने लगी। पति का इलाज भी करवाने लगी, लेकिन जैसे-जैसे उमर बढ़ती गई, शरीर भी साथ छोड़ता गया।

इसी बीच हफ्ते भर पहले बीमार पति भी चल बसा। पति के दाह संस्कार के लिए महिला के पास पैसे नहीं थे। स्थानीय मुखिया विश्वनाथ जायसवाल ने उसे अबीर अंत्येष्टि योजना के तहत दाह संस्कार के लिए 3 हजार रुपए दिए। इससे पति का दाह संस्कार तो हो गया लेकिन अब उसके सामने श्राद्ध कर्म की चिंता सताने लगी। कोई चारा न देख कलावती सड़कों पर निकल गई और भीख मांगना शुरू कर दिया। एक-एक पैसे इकट्ठा कर अपने पति का श्राद्ध करना चाहती है, ताकि उन्हें मुक्ति मिल सके। महिला की इस परिस्थिति को देख और सुनकर हर कोई एक बार भावुक हो जाता है।