दहशत:बच्चा चोरी के शक में ग्रामीणों ने महिला व बोलेरो चालक को बंधक बनाकर पीटा

जमुई19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वाहन पर बैठी महिला और बोलेरो चालक। - Dainik Bhaskar
वाहन पर बैठी महिला और बोलेरो चालक।
  • टाउन थाना के अंबा की घटना, पुलिस दोनों को हिरासत में लेकर कर रही है पूछताछ

बच्चा चोरी की अफवाह पूरे देश में फैला हुआ है इसको लेकर कई जगहों पर बच्चा चोरी के शक में पकड़कर पिटाई करने का मामला भी सामने आया है। शनिवार की देर रात टाउन थाना क्षेत्र के अंबा गांव में भी इसी तरह की अफवाह को लेकर स्थानीय ग्रामीणों ने एक विक्षिप्त महिला और बोलेरो चालक को बंधक बनाकर पिटाई कर दिया, जिसमें दोनों घायल हो गया। घटना की जानकारी के बाद टाउन थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर महिला और बोलेरो चालक को अपने कब्जे में लेकर मामले की जांच में जुट गई। बताया जाता है कि शनिवार की रात टाउन थाने की पुलिस को सूचना मिली कि जमुई-लखीसराय मुख्य मार्ग के अंबा गांव के समीप एक महिला और युवक को स्थानीय लोगों द्वारा बच्चा चोरी के शक में पकड़कर पिटाई की जा रही है।

सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और ग्रामीणों के चंगुल से दोनों को बचाया। घायल की पहचान झारखंड के दुमका निवासी बागलचंद्र मंडल का पुत्र जितेन मंडल के रूप में हुई है। जबकि महिला मानसिक रूप से बीमार बताई जाती है। घायल बोलेरो चालक ने बताया कि वह दुमका अस्पताल में पदस्थापित डॉक्टर अनिल कुमार सिंह को दरभंगा से लाने के लिए वाहन से जा रहा था। जैसे ही वह अंबा गांव के पास पहुंचा तो देखा कि सड़क किनारे भीड़ एक महिला को कुछ लोगों द्वारा मारपीट किया जा रहा है। इसी दौरान कुछ लोग आए और बिना कुछ सुने समझे उसके मारपीट शुरू कर दी। जबकि बोलेरो चालक के वाहन में रखे मोबाइल सहित कई कागजात को भी कुछ लोगों द्वारा चुरा लिया और उसकी बच्चा चोरी करने के शक में पिटाई कर दी।

पहले भी रक्तरोहनिया व रजला में बच्चा चोरी के शक में हुई घटना

मिट्टी काटने को लेकर मारपीट, एक घायल

जमुई। विवादित जमीन पर मिट्टी काटने का विरोध करने पर एक व्यक्ति को दबंग पड़ोसी ने मारपीट कर घायल कर दिया। जिसे इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया है। घायल की पहचान झाझा थाना क्षेत्र के तलवा बलियाडीह गांव निवासी मो. शफीक अंसारी के रूप में की गई है। बताया जाता है कि सफीक और उसके पड़ोसी मो. हैदर के साथ कई सालों से जमीन विवाद चला आ रहा था। इसी विवाद को लेकर शनिवार को दबंग पड़ोसी द्वारा विवादित जमीन पर मिट्टी काटा जा रहा था। जब इसका विरोध किया तो मो. हैदर, मो. तनवीर सहित अन्य लोगों द्वारा मारपीट किया गया जिसमें वह घायल हो गया। घायल को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया। जबकि घायल द्वारा झाझा थाने में आवेदन दिया गया।

पुलिस ने दाेनाें काे थाने लाकर बचाई जान

घटना की जानकारी के बाद थाने की पुलिस मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों द्वारा पिटाई किए जा रहे विक्षिप्त महिला और बोलेरो चालक को बचाकर टाउन थाने लाई। जहां पूछताछ के बाद बोलेरो चालक को रविवार की सुबह छोड़ दिया गया। जबकि विक्षिप्त महिला की पहचान करने में जुट गई है। बता दें कि 11 सितंबर को भी झाझा थाना क्षेत्र के रजला गांव में बच्चा चोरी के आरोप में एक विक्षिप्त युवक को पकड़कर ग्रामीणों द्वारा पिटाई कर दिया था। जबकि 13 सितंबर को सोनो थाना क्षेत्र के रक्तरोहनियां गांव में बच्चा चोरी के शक में ग्रामीणों ने दो युवक को बंधक बनाकर पिटाई की थी । एसडीपीओ डॉ. राकेश कुमार ने लोगों से अपील की है कि जहां भी उन लोगों को कोई शक हो कि वह बच्चा चोरी करने आया है तो तुरंत स्थानीय थाने की पुलिस से संपर्क करें न की कानून को अपने हाथों में लें।

खबरें और भी हैं...