अनदेखी:एसएचसी में दन्त चिकित्सक नहीं, लाखों की मशीन बेकार

काको14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रामीण अस्पतालों में इलाज सुविधाओं को बढ़ाने की बड़ी-बड़ी बातें होती रहती है लेकिन यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में इलाज सुविधाओं के अभाव से इलाके के मरीजों को काफी परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। दरअसल काको सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में दन्त चिकित्सक का पद रिक्त रहने के कारण यहां लाखों रुपए के उपकरण बेकार पड़कर धूल फांक रहा है। विभागीय सूत्रों के अनुसार यहां पदस्थापित दन्त चिकित्सक एक वर्ष से भी अधिक की अवधि से सदर अस्पताल जहानाबाद में प्रतिनियुक्ति पर हैं। ऐसे में स्थानीय मरीजों को दांत से संबंधित समस्याओं के निराकरण के लिए यहां निजी नर्सिंग होम में जाना पड़ता है या फिर दस किलोमीटर की दूरी तय कर सदर अस्पताल जाना पड़ता है। जानकारों का कहना है कि अधिकारियों की लापरवाही के कारण लाखों रुपए की मशीन यूं ही धूल फांक रहे हैं लेकिन किसी के कानों में जूं तक नहीं रेंग रहा। भले ही सरकार लाख दावे कर ले लेकिन जमीनी हकीकत कुछ और है। करोड़ों रुपए स्वास्थ्य सुविधाओं के नाम पर पानी की तरह बहाए जा रहे हैं लेकिन उसका लाभ आम लोगों के पहुंच से काफी दूर है। प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. शिव कुमार प्रसाद से पूछने पर बताया की दंत चिकित्सक नहीं रहने के कारण उक्त मशीन पड़ा हुआ है। यह उल्लेखनीय है कि प्रखंड के 14 पंचायत एवं एक नगर पंचायत के लोगों यही सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर निर्भर रहना पड़ता है।

खबरें और भी हैं...