समीक्षा:सीओ, थानेदार और खनन अधिकारी अवैध खनन के खिलाफ मारें छापा, शराब को लेकर भी करें कार्रवाई

जहानाबाद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खनन व मद्य निषेध विभाग की बैठक में डीएम व एसपी ने अधिकारियों को दीं हिदायतें

जिलाधिकारी रिची पांडेय व एसपी दीपक रंजन ने भूमि विवाद, खनन एवं मद्य निषेध की समीक्षात्मक बैठक कर अधिकारियों को कई जरूरी हिदायतें दी। सर्वप्रथम भूमि विवाद से संबंधित समीक्षात्मक बैठक में निर्देश दिया गया कि गृह विभाग से प्राप्त निर्देश के आलोक में प्रत्येक माह कम से कम चार बैठक आयोजित करना सुनिश्चित करें ताकि भूमि विवाद से संबंधित मामलों का ससमय निष्पादन किया जा सके। डीएम ने सभी अंचल पदाधिकारियों एवं थाना प्रभारियों को निर्देशित किया कि मुख्यमंत्री व जिला मुख्यालय में प्रत्येक शुक्रवार को आयोजित होने वाले जनता दरबार आदि में आने वाले आवेदनों या मामलों का अनुश्रवण कर त्वरित रूप से निष्पादन करने की हिदायत दी। सर्वाधिक संवेदनशील इलाकों पर कड़ी निगरानी रखते हुए प्रिवेंटिव मेजर्स लेने का निर्देश दिया। जिला खनन पदाधिकारी के अतिरिक्त सभी अंचल अधिकारियों को सक्रिय रुप से छापेमारी करने का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही निर्देश दिया गया कि जितने भी प्राथमिकी से संबंधित मामले हैं उसमें डोसियर खोलना सुनिश्चित करें। डीएम ने अवैध खनन पर निगरानी रखने एवं अंकुश लगाने हेतु अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, जिला खनन पदाधिकारी जिला परिवहन पदाधिकारी, संबंधित अंचलाधिकारी एवं थानाध्यक्ष द्वारा समन्वय स्थापित कर छापेमारी करने का निर्देश दिया।

अवैध खनन से संबंधित सूचना प्राप्त होने पर तुरंत छापेमारी सुनिश्चित करने को कहा। जिला खनन पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि अवैध खनित बालू से लदी गाड़ियों पर खनन विभाग से संबंधित जुर्माने के अतिरिक्त जिला परिवहन पदाधिकारी से समन्वय स्थापित कर परिवहन विभाग के नियमानुसार शत प्रतिशत कार्रवाई करते हुए जुर्माना लगाना सुनिश्चित करें। शराब की छापेमारी में तेजी लाने ब्रेथ एनालाइजर टेस्ट से निरंतर जांच करने का निर्देश दिया गया। इसके साथ ही शराब के आपूर्तिकर्ताओं का डोसियर खोलने का निर्देश दिया गया। शांति व्यवस्था को कायम रखने के लिए सूचना तंत्र को मजबूत रखने का निर्देश दिया गया।

खबरें और भी हैं...