जहानाबाद सिलेंडर ब्लास्ट में 3 की मौत:जख्मी हालत में तीनों का चल रहा था इलाज, गांव में पसरा सन्नाटा

जहानाबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जहानाबाद जिले के अलालपुर गांव में 29 तारीख को खाना बनाने के दौरान गैस रिसाव होने के कारण सिलेंडर ब्लास्ट हो गया था। जिसमें दो बच्चों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। तीन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे। सभी घायलों को इलाज के लिए पीएमसीएच भेजा गया था ।जहां सभी का इलाज चल रहा था लेकिन 2 दिनों के अंदर तीनों घायलों के मौत हो गया। बबीता देवी एवं रोशन कुमार की मौत 2 दिन पहले हो गई ।सोमवार की रात्रि संजय विश्वकर्मा का भी मौत हो गया।

इस घटना में सभी पांचों लोगों की मौत हो गई पूरा परिवार इस घटना में काल मैं समा गया और पूरा परिवार उजड़ गया।जैसे ही मंगलवार को संजय विश्वकर्मा का शव गांव पहुंचा गांव में शोक की लहर दौड़ गई ।पुलिस द्वारा शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु सदर अस्पताल भेज दिया इस घटना में इसके परिवार के सभी पांच सदस्यों की मौत होने से गांव में मातम छा गया। माचिस के एक चिंगारी ने पूरे परिवार को ही तहस-नहस कर दिया। इस पूरे परिवार में अर्जुन विश्वकर्मा एवं 5 वर्षीय रागिनी कुमारी बची है।

रागिनी कुमारी अपने बुआ के यहां गई हुई थी। इसी के कारण उसकी जान बच गई ।और अर्जुन विश्वकर्मा किसी काम से घटना के समय घर से बाहर गए हुए थे। अर्जुन विश्वकर्मा का रोते-रोते बुरा हाल है ।अपने भाग को कोसते हुए अर्जुन विश्वकर्मा ने कहा कि भगवान किस दिन देखने के लिए मुझे इस पृथ्वी पर रखे हुए हैं।

मेरा पूरा परिवार ही काल के बस में समा गया तो मैं बच कर क्या करूंगा भगवान मुझे जल्द से जल्द मौत दे दे ।उनकी बात सुनकर सभी लोगों की आंखें नम हो जाती है ।जबकि जिला प्रशासन द्वारा 8लाख 40000 रुपया भी अनुदान के रूप में दिया गया है। लेकिन 5 दिनों के अंदर में 5 परिवार को मरते देख अर्जुन विश्वकर्मा काफी विचलित हो गए हैं।