आवेदन:दुर्घटना में मौत के 46 मामलों में 2.30 करोड़ का भुगतान, 43 आवेदन पेंडिंग

भभुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 15 सितंबर 2021 से लागू होने के बाद मौत के 91 मामले में मुआवजा के लिए आवेदन

सड़क दुर्घटना में मौत के 46 मामले में 2.30 करोड़ रुपए का भुगतान मुआवजे के रूप में किया गया है।बता दें कि 15 सितंबर 2021 से प्रभावी नए नियम के मुताबिक सड़क दुर्घटना में मृतक के आश्रित को पांच लाख रुपए का भुगतान किया जाता है। विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक इस नियम के प्रभावी होने के बाद अब तक कुल 91 मौत के मामले में विभाग को आवेदन प्राप्त हुए हैं। जिसमें 46 आवेदनों को स्वीकृत करते हुए भुगतान किया जा चुका है। अभिलेख स्वीकृति की प्रक्रिया में दो आवेदन है।जबकि विभाग से मार्गदर्शन के लिए दो आवेदन लंबित हैं। अनुमंडल स्तर पर लंबित आवेदनों की संख्या 23 है। जबकि थाना स्तर पर लंबित आवेदनों की संख्या 20 है। सड़क दुर्घटना में मौत के मामले में 38 लोगों ने ऑनलाइन आवेदन किया है।

सड़क दुर्घटना में मृतक और गंभीर रूप से घायल लोगों को विभाग की ओर से निर्धारित प्रक्रिया के बाद मुआवजे का भुगतान किया जा रहा है।बता दें कि इंश्योरेन्स फेल वाहन से दुर्घटना होने पर अब मालिक के चल-अचल संपत्ति से मुआवजा के रुपए वसूल किए जाएंगे। इंश्योरेंस फेल होने वाले वाहन से यदि कोई हादसा होता है उसमें किसी की मौत होने या जख्मी होने की स्थिति में परिवहन विभाग मुआवजा की राशि वाहन मालिक से वसूल करेगा। सड़क दुर्घटना में मृत्यु या जख्मी होने की स्थिति में मुआवजे के लिए अब अनुमंडल पदाधिकारी के कार्यालय में आवेदन करना होगा। सभी स्तरों पर आवेदनों की जांच के बाद मुआवजे की राशि आरटीजीएस के माध्यम से दी जाएगी। बता दें कि हादसों में मौत के बाद विभाग से मुआवजे के लिए हो रही दुर्घटनाओं की अपेक्षा काफी कम आवेदन मिल रहे हैं।

दावा आवेदन की जांच के बाद भुगतान:सड़क दुर्घटना के दौरान किसी भी प्रकार का हादसा होने के बाद नए नियम के तहत अब मुआवजे की राशि के लिए दावा का आवेदन संबंधित एसडीओ कार्यालय में जमा होगा। एसडीओ कार्यालय में जमा होने के बाद उसे जिला परिवहन कार्यालय भेजा जाएगा। इसके बाद डीटीओ एफआईआर और एमभीआई रिपोर्ट का अभिलेख तैयार कर एसडीओ को भेजेंगे। एसडीओ जिलाधिकारी के यहां से सभी प्रक्रिया पूरी कराकर जिला परिवहन पदाधिकारी को भेजेंगे। जिसके बाद सड़क दुर्घटना में मृतक के आश्रितों को मुआवजे का भुगतान किया जाएगा।

एस डी ओ कार्यालय में देना होगा कागजात होगी जांच
सड़क हादसे के बाद मौत या जख्मी होने पर कई प्रकार के कागजात आवेदन के साथ एसडीओ कार्यालय में जमा करना होगा। इनमें आधार कार्ड, बैंक खाता, वोटर आई कार्ड, कैंसिल चेक की छाया प्रति, मृतक या दावेदार का कागजात, इलाज रिपोर्ट की कॉपी, मोबाइल नंबर के साथ शपथ पत्र देना अनिवार्य किया गया है। कागजों की जांच पड़ताल के बाद विभाग द्वारा निर्धारित प्रक्रिया के तहत मुआवजे का भुगतान होगा।

खबरें और भी हैं...