5 डीलर किए गए चिह्नित:2.5 लाख पंजीकृत किसान करा सकेंगे रबी फसल के बीज की होम डिलीवरी

भभुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रबी महाभियान में कृषि विशेषज्ञ व अन्य। - Dainik Bhaskar
रबी महाभियान में कृषि विशेषज्ञ व अन्य।

किसानों के लिए सुखद खबर है। अब उन्हें बीज के इधर-उधर दौड़ भाग नही लगानी पड़ेगी। जिले के पंजीकृत करीब ढाई लाख किसान सरकार की संचालित योजनाओं के अनुकूल अनुदानित दर पर मिलने वाली विभिन्न खाद्यान्नों के बीज की होम डिलीवरी ले सकेंगे।

विभागीय जानकारी के मुताबिक,यह सुविधा आगामी रबी फसल से शुरू कर दी जाएगी।इसके बाद जिले के किसान घर बैठे विभाग के साइट पर ऑनलाइन आवेदन करेंगे।

इसके साथ ही वे जरूरत के अनुसार अलग-अलग प्रजाति के बीज व मात्रा की सूचना दर्ज करेंगे। इसके बाद पंजीकृत किसान के घर मांग के अनुरूप मात्रा और गुणवत्ता के अनुसार बीज उनके घर पहुंच जाएगी। हालांकि इसके लिए निर्धारित शुल्क देय होगा।

पंजीकृत पांच डीलर यह व्यवस्था सुलभ कराएंगे

विभाग के आधिकारिक जानकारी के मुताबिक,कृषि विभाग की ओर से प्रति किलो बीज के आधार पर 5 रुपए, डिलीवरी चार्ज किसानों को देना होगा। इसकी अनुशंसा विभाग ने की है। पंजीकृत पांच डीलर यह व्यवस्था सुलभ कराएंगे।

आधिकारिक जानकारी के मुताबिक, रबी की अलग-अलग खाद्यान्नों के लिए मात्रा निर्धारित की गई है।विभाग की ओर से 40 किलो प्रति एकड़ गेंहूँ बीज की मात्रा अनुशंसित है। इसी तरह प्रति एकड़ चना का 32 किलो,सरसों बीज 2 किलो प्रति एकड़, मसूर 2 किलो प्रति एकड़ अनुशंसित है। यह मात्रा प्रजाति के अनुकूल थोड़ा अलग भी हो सकता है।

इस साल 1 लाख 500 हेक्टेयर में रबी फसल की खेती होगी :

कैमूर जिले में इस साल 1 लाख 500 हेक्टेयर में रबी फसल की खेती होगी। 86128 हेक्टेयर में गेहूं, करीब 36 हजार एकड़ में दलहनी और तेलहन फसल लगाई जाएगी। इसके लिए बीज की मात्रा भी निर्धारित की जा चुकी है। सर्वाधिक 86128 हेक्टेयर में अकेले गेहूं की फसल लगेगी। वहीं करीब 36 हजार एकड़ में दलहनी और तेलहन फसल लगाई जाएगी।

दलहनी व तेलहनी फसल लगाने की तैयारी भी शुरू

दरअसल जिले में धान की फसल पक कर तैयार होने को है। ऊंची किस्म की भूमि में दलहनी व तेलहनी फसल लगाने की तैयारी भी शुरू कर दी गई है। जिले के विभिन्न हिस्सों में करीब 700 एकड़ में जौ की खेती होगी। रबी फसल की बेहतर ऊपज लेने के लिए तकनीकी जानकारियां भी दी जा रही है। इसमें किसानों को बीज चयन,भूमि की नमी,उर्वरक,सिंचाई, कृषि यंत्र सहित कई अन्य जानकारियां दी जा रही हैं। उन्हें अनुदानित दर पर विभिन्न फसलों की उच्च गुणवत्ता के अनुदानित दर पर बीज भी उपलब्ध कराए जा रहे हैं।

की गई है व्यवस्था, किसान घर बैठे मंगा सकेंगे बीज

उधर,इस संदर्भ में जिला कृषि पदाधिकारी रेवती रमण ने पूछे जाने पर जानकारी देते हुए कहा कि आगामी रबी फसल से बीज की होम डिलीवरी की व्यवस्था की गई है। 5 चिन्हित है। किसान ऑनलाइन बीज की मात्रा व प्रजाति की डिमांड करेंगे। इसके बाद चिन्हित डीलर 5 रुपए प्रति किलो की दर से डिलीवरी चार्ज लेकर बीज घर तक पहुंचाएंगे।

रेवती रमण, जिला कृषि पदाधिकारी

खबरें और भी हैं...