कैमूर में भीषण गर्मी में पेयजल की समस्या:डीएम ने अफसरों की बुलाई बैठक, पहाड़ी इलाकों में चापाकल लगाने का निर्देश

कैमूर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भीषण गर्मी के बीच कैमूर जिले के मैदानी और पहाड़ी इलाकों में पेयजल सुविधा मुहैया कराने को लेकर शनिवार को डीएम कैमूर नवदीप शुक्ला ने पांच प्रखंडों अधौरा, भगवानपुर, चैनपुर, चांद एवं रामपुर अंतर्गत आने वाले पहाड़ी क्षेत्रों में पानी से जुड़ी समस्याओं से संबंधित समीक्षा बैठक की।

समीक्षा के क्रम में कार्यपालक अभियंता, पीएचईडी को निर्देश दिया कि पहाड़ी क्षेत्रों के सभी चापाकल का सर्वे करा कर बंद पड़े चापाकल का तत्काल मरम्मत कराएं। जहां चापाकल मरम्मती लायक नहीं है ,वहां तत्काल नया चापाकल लगाया जाए। उन क्षेत्रों में नल जल योजना का भी सर्वे करवाएं। जहां पर नल जल योजना कार्यरत नहीं है उसे तत्काल चालू कराना सुनिश्चित करें।

डीएम ने प्रखंडों के बीडीओ को निर्देश दिया कि वे अपने क्षेत्र मे भ्रमण करते हुए पानी से संबंधित समस्याओं के निराकरण हेतु आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। इस तपिश में पेयजल की सबसे बड़ी समस्या पहाड़ी इलाकों में है। कैमूर जिले के रामपुर भगवानपुर चैनपुर चांद और अधौरा ऐसा प्रखंड है जिसकी एक अच्छी खासी आबादी पहाड़ी पर वास करती है।

गर्मी के दिनों में जलस्तर नीचे चले जाने की वजह से चापाकल पानी उगलना बंद कर देते हैं। लिहाजा इन प्रखंडों के बहुतेरे गांव के लोगों को अपना हलक तर करने के लिए दूर से पानी लाते है। यही कारण है कि डीएम ने इस गंभीर विषय पर विभागीय अधिकारियों के अलावा प्रशासनिक अधिकारियों को कई बिंदुओं पर निर्देश दिया है।

उप विकास आयुक्त, संबंधित प्रखंडों के वरीय प्रभारी पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता पीएचईडी, संबंधित प्रखंडों के प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रखंड कल्याण पदाधिकारी प्रखंड पंचायती राज पदाधिकारी मनरेगा के कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा के जेई एवं अन्य लोग उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...