12वीं पास चला रहा था सर्जिकल हॉस्पिटल:कैमूर में ऑपरेशन झोलाछाप डॉक्टर, प्रशासन ने किया सील

कैमूर5 महीने पहले

मरीजों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे झोलाछाप डॉक्टर के खिलाफ रविवार को कैमूर की मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी के निर्देश पर स्थानीय पुलिस प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा ने बड़ी कार्यवाई की। कैमूर जिले के कुदरा में जीटी रोड पर स्थित संजय से सर्जिकल हॉस्पिटल को प्रशासन ने सील कर दिया। प्रशासन ने जब कार्यवाई शुरू किया तो एक दर्जन से अधिक मरीज उस अवैध अस्पताल के बेड पर पड़े थे। ऐसे में मरीजों को सदर अस्पताल भभुआ में शिफ्ट कराया गया।

गौरतलब है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी कैमूर को शिकायत मिली थी कि कुदरा में जीटी रोड पर पुसौली के समीप संजय सिंह सर्जिकल हॉस्पिटल अवैध रूप से चलाया जा रहा है इसके संचालक और तथाकथित डॉक्टर संजय सिंह मात्र 12वीं पास है। अस्पताल की जांच की गई तो अस्पताल की हकीकत परत दर परत खुलकर सामने आई। मरीजों का इलाज कर रहे डॉक्टर संजय सिंह ने पूछताछ के दौरान बताया था कि वह मात्र 12वीं पास है।

मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी ने क्लिनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट 2010 के नियमों का उल्लंघन करने के मामले में मुकदमा दर्ज किया है। पीएचसी कुदरा के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी रीता कुमारी ने बताया कि 12वीं पास संजय सिंह मरीजों का इलाज करते पाए गए। उनके द्वारा ऑपरेशन भी किया जा रहा था जो कानूनन अपराध है।

आपको बता दें कि कैमूर यूपी के बनारस से सटा हुआ जिला है। यहां एक नहीं अनगिनत अवैध नामी-गिरामी हॉस्पिटल खुले हैं। सभी तो नहीं लेकिन कुछ ऐसे हॉस्पिटल है जो डॉक्टरों के नाम पर रजिस्टर्ड है लेकिन वे डॉक्टर अस्पताल में कभी नहीं आते। और इसी तरह के लोग मरीजों का इलाज करते हैं। मामला बिगड़ने पर कमीशन पर यूपी के बनारस में चिन्हित अस्पतालों में रेफर करते हैं और मोटी कमाई करते हैं। खैर

एसडीएम मोहनियाँ, चिकित्सा पदाधिकारी कुदरा ने बताया कि अनुसार संजय सिंह चेनारी,रोहतास के द्वारा पुसौली में अवैध हॉस्पिटल चला रहे थे। जांच के दौरान संजय सिंह अपनी योग्यता इंटर पास बताया गया था। उनके पास मेडिकल से जुड़ी कोई योग्यता नही है। लिहाजा संजय हॉस्पिटल एंड सर्जिकल सेंटर के मालिक संजय सिंह पर एफआईआर दर्ज करते हुए सील कर दिया गया।

खबरें और भी हैं...