लॉकअप में मौत का लाइव VIDEO:कटिहार में शराब तस्करी के आरोप में कस्टडी में लिया था; पुलिस की पिटाई से मौत का आरोप

कटिहार2 महीने पहले

कटिहार में शराब तस्करी के आरोप में पुलिस ने प्रमोद को कस्टडी में लिया था। पुलिस कस्टडी में ही उसकी मौत हो गई थी। इसके बाद परिवार ने थाने में तोड़फोड़ की थी। पुलिस पर पिटाई से प्रमोद की मौत का आरोप लगाया था। पुलिस कस्टडी में लॉकअप के अंदर बैठे प्रमोद का एक सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इसमें प्रमोद अपने एक साथी से बात करता दिख रहा है। थोड़ी देर बाद वो गर्दन झुकाता है और उसकी मौत हो जाती है।

पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दीजिए...

बीते शुक्रवार की रात शराब तस्कर प्रमोद की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई थी। घटना के बाद सियासी घमासान के बीच प्राणपुर थाना में उग्र भीड़ ने तोड़फोड़ और आगजनी की थी। इसी हंगामे के बाद प्राणपुर थाने में लगे सीसीटीवी में मृतक शराब तस्कर प्रमोद की लाइव तस्वीर मिली है।

एसपी जितेंद्र कुमार ने त्वरित कार्रवाई करते हुए एसआईटी गठित करते हुए सीसीटीवी फुटेज की जांच के आदेश भी दिए हैं। लाइव फुटेज में देखा जा सकता है कि प्रमोद पुलिस हाजत में साथ में पकड़े गए अभियुक्त से बातचीत कर रहा है। इसी दौरान अचानक बैठे-बैठे ही गिर गया। आशंका जताई जा रही है कि लॉकअप में उसे हार्ट अटैक आ गया। और उसकी मौत हो गई।

फिलहाल इस फुटेज की जांच मामले में गठित एसआईटी कर रही है। जांच के बाद ही मौत के कारणों का पता चल पाएगा।

प्रमोद की मौत के बाद भीड़ थाने पहुंच गई और पुलिस वालों के साथ मारपीट की गई।
प्रमोद की मौत के बाद भीड़ थाने पहुंच गई और पुलिस वालों के साथ मारपीट की गई।

शुक्रवार को पुलिस कस्टडी में हुई थी मौत
बता दें कि बीते शुक्रवार की रात प्राणपुर पुलिस ने शराब तस्कर प्रमोद को एक अन्य व्यक्ति के साथ गिरफ्तार किया था। गिरफ्तारी के ठीक दूसरे दिन ही सुबह प्रमोद की पुलिस कस्टडी में मौत हो गई। मौत के बाद स्थानीय और परिजनों ने प्राणपुर थाना का घेराव करते हुए हल्ला बोल दिया।

मौत के बाद लोगों ने थाने में भी जमकर तोड़फोड़ की थी।
मौत के बाद लोगों ने थाने में भी जमकर तोड़फोड़ की थी।

उमड़ी भीड़ ने किया पथराव

युवक की मौत की सूचना मिलते ही गांव में खबर आग की तरह फैल गई और ग्रामीणों की भीड़ मृतक को देखने थाना परिसर में उमड़ पड़ी। भीड़ इस कदर जुटी कि पुलिस प्रशासन का विरोध करते हुए थाना परिसर में ही तोड़फोड़ करने लगे। हंगामे के दौरान पुलिस पर हुए लाठी-डंडे और रॉड से वार एवं पथराव में एक थानाध्यक्ष सहित कई पुलिसकर्मी घायल थे। जिसमें डंडखोरा थानाध्यक्ष शैलेश कुमार को काफी गंभीर चोट आई थी। इस दौरान लोगों ने उनका सर्विस रिवाल्वर भी छीन लिया था।

थानाध्यक्ष को इलाज के लिए सदर अस्पताल लाया गया लेकिन हालत गंभीर होने पर पूर्णिया रेफर कर दिया था। इसके अलावा पुलिस कर्मियों में एएसआई राेहित कुमार, पुलिस कर्मी मो. एजाज, मो. रिजवान, सुदीप कुमार, संतोष सुमन, राजेश पासवान पुलिसकर्मी घायल हुए थे। प्राणपुर पुलिस ने 61 लोगों पर नामजद व 100 से अधिक अज्ञात पर प्राथमिकी दर्ज की है।

प्रमोद की मौत के बाद भीड़ थाने के अंदर घुस गई। और इस तरह से तोड़फोड़ की गई।
प्रमोद की मौत के बाद भीड़ थाने के अंदर घुस गई। और इस तरह से तोड़फोड़ की गई।

कई पुलिस कर्मी का मोबाइल भी छीन कर तोड़ा

ग्रामीण इस कदर आक्रोशित थे कि अगर कोई व्यक्ति या पत्रकार मोबाइल पर बात करते हुए पकड़े गए तो उनका मोबाइल छीन कर फोड़ दिया। जिसमें कई पुलिसकर्मी के मोबाइल भी छीन कर फोड़ दिए गए। आक्रोशित ग्रामीणों ने चार पहिया वाहन को तोड़फोड़ कर पलट दिया तो दो पहिया वाहन में तोड़फोड़ की। स्विच बोर्ड को भी तोड़ने के अलावे थाना में रखें कागजातों को भी बाहर निकाल कर फेंक दिया।

विधायक बोले- पिटाई से मौत

मामले में प्राणपुर विधायक निशा सिंह ने सदर अस्पताल पहुंच कर मृतक के परिजनों से मिलकर सरकार और प्रशासन पर जमकर हमला बोला। उन्होंने शराबबंदी को विफल बताते हुए पुलिस पर भी कई तरह के सवाल उठाए हैं। विधायक ने कहा कि अगर कोई भी व्यक्ति शराब मामले में पकड़ आता है तो पुलिस को किसने हक दिया कि उनके साथ मारपीट की घटना को अंजाम दे। पुलिस के मार से उस युवक की मौत हुई है। उनके छोटे-छोटे बच्चे हैं। जिनका भरण-पोषण कौन करेंगे। उन्होंने डीएम से भी मिलकर अपनी बातों को रखा है।

मृतक के पीठ पर चोट के निशान

मृतक के परिजन मृतक के शरीर को दिखाते हुए कहा कि पीठ पर काफी चोट के निशान थे। इसे साफ पता चलता है कि उस युवक के साथ काफी मारपीट हुई है

शराब तस्कर की थाने में मौत के बाद तोड़फोड़:कटिहार में ग्रामीणों ने पुलिस पर चलाई लठियां, SHO का रिवाल्वर छीना; 10 पुलिसकर्मी जख्मी

खबरें और भी हैं...