कटिहार में मोटरसाइकिल चोर गिरोह का खुलासा:हीरो कंपनी की छह मोटरसाइकिल बरामद, 9 शातिर मोटरसाइकिल चोर गिरफ्तार

कटिहार2 महीने पहले

कटिहार पुलिस ने शुक्रवार को "गैंग्स ऑफ मोटरसाइकिल चोर गिरोह" का बड़ा खुलासा किया है। हाल के दिनों में नगर थाना, और सहायक थाना सहित जिले के कई अन्य थाना क्षेत्र से चोरी किए गए छह मोटरसाइकिल सहायक थाना व नगर थाना पुलिस के संयुक्त प्रयास से बरामद किया गया है । वही चोरी किए गए बाइक के साथ-साथ मोटरसाइकिल चोरी की वारदात में संलिप्त 9 शातिर चोर भी पुलिस के हत्थे चढ़ गए जो कटिहार पुलिस के लिए आए दिन सिर दर्द हुआ था।

गुप्त सूचना के आधार पर हुई कार्रवाई

पुलिस अधीक्षक कटिहार के निर्देशानुसार गुप्त सूचना के आधार पर नगर थाना क्षेत्र के दुर्गा स्थान प्रांगण में चोरी की बाइक की खरीद बिक्री की सूचना पर नगर थाना पुलिस निरीक्षक राघवेंद्र कुमार सिंह के नेतृत्व में एक विशेष छापेमारी टीम का गठन किया गया । छापेमारी टीम के द्वारा दुर्गास्थान प्रांगण स्थित मैदान से एक हीरो ग्लैमर चोरी की बाइक सहित दो चोर को रंगे हाथ चोरी की बाइक बिक्री करते हुए गिरफ्तार किया गया जिस पर पूर्व में ही नगर थाना में कई कांड अंकित है। गिरफ्तार अभियुक्त किन्नू कुमार के अपराध स्वीकारोक्ति बयान के आधार पर सहायक थाना क्षेत्र के भेड़िया रहिका, शमशेरगंज ,गेरा बाड़ी ,मूसापुर एवं तेजा टोला स्थित विभिन्न ठिकानों पर छापेमारी की गई।

छापेमारी के दौरान हीरो कंपनी की दो रेड एंड ब्लैक ग्लैमर बाइक, काला रंग का हीरो स्प्लेंडर एक बाइक, काला एवं ब्लू रंग का हीरो पैशन प्रो बाइक लाल रंग का हीरो सीडी डीलक्स बाइक बरामद किया गया। वही गिरफ्तार अभियुक्तों के पास से विभिन्न कंपनियों के 9 एंड्राइड मोबाइल सेट भी बरामद किया गया।

एसपी ने बताया बड़ी उपलब्धि

कटिहार एसपी जितेंद्र कुमार ने इसे पुलिस की बड़ी उपलब्धि बताया है । शुक्रवार को शाम में एसपी जितेंद्र कुमार ने इस उपलब्धि के बारे में जानकारी देते हुए कहा कि हाल के दिनों में जिले के अलग-अलग स्थानों से कुछ मोटरसाइकिल चोरी के मामला सामने आया था। जिसे पुलिस ने गंभीरता से लेते हुए कार्रवाई शुरू किया है। जिसमें पुलिस को यह बड़ी सफलता मिला है।

गिरफ्तार अभियुक्त के द्वारा पूछताछ के क्रम में चौकानेवाले तथ्य सामने आए
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि यह लोग शहर में भीड़ वाली जगहों को पार्किंग कर रहे बाइक सवार को जाने की दिशा में एक साथी के द्वारा रेकी किए जाने पर उसके द्वारा लाइन देने पर बाइक की चोरी कर लेते हैं । पुलिस से बचने के लिए बाइक को कुछ दूर ले जाकर सुनसान जगह में खड़ा कर देते हैं और जब पुलिस की गतिविधि शांत हो जाती है तो उसे लेकर फरार हो जाते हैं । उक्त चोरी गई बाइक को सुदूर देहात के अलावा पश्चिम बंगाल के बॉर्डर इलाके में 10,000 से लेकर ₹15000 तक बेच देते हैं।

उक्त चोरी की गई बाइक पर नंबर प्लेट भी ऐसा लगाते हैं कि उस नंबर पर मोबाइल एप पर सर्च करने के बाद बाइक के मालिक का नाम वही आता है जो उस नंबर का वास्तविक स्वामी होता है।

गिरफ्तार अभियुक्त के नाम किन्नू कुमार पिता अशोक रविदास ,छोटे लाल चौहान पिता महेंद्र चौहान, दुरुराराकुमार हार्डी पिता राजन हार्डी, डब्ल्यू बॉस फोर पिता अरुण बाँसफोर, मोहम्मद रफीक उर्फ लालू पिता मोहम्मद तारीख, लखन कुमार बांसफोर, पिता कपिल बाँसफोर, करण कुमार पिता प्रकाश चौहान, मोहम्मद सफीक पिता मोहम्मद अमीन उल हक, सोनू कुमार पिता उमेश चौहान शामिल है।

खबरें और भी हैं...