• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Khagaria
  • EE In Balance Minus Even After Recharging 'smart' Meter: Where There Is More Trouble, Complain On Toll Free Number

भास्कर इन्वेस्टिगेशन:‘स्मार्ट’ मीटर रिचार्ज करने पर भी बैलेंस माइनस मेंईई: जहां ज्यादा परेशानी, टॉल फ्री नंबर पर करेंं शिकायत

खगड़िया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ज्यादा बिजली आने से हर वर्ग के लोग परेशान, समस्या बताने के बाद भी विभाग नहीं कर पा रहा समाधान

पहले ही डिजीटल मीटर की गड़बड़ विपत्र से लोग परेशान रहते थे। उसे ठीक कराने के लिए लोक शिकायत और पता नहीं किस-किस कार्यालय का चक्कर लोगों को लगाना पड़ता था। ऊपर से स्मार्ट प्रीपेड मीटर का फार्मूला लोगों को अंधेरा में रहने को विवश कर दिया है। रिचार्ज कराने के बाद भी कई उपभोक्ताओं की शिकायत है कि बैलेंस माइनस में दिखा रहा है। सही मायने में देखा जाए ताे बिजली कम्पनी के स्मार्ट प्रीपेड मीटर से उपभोक्ता काफी परेशान हो रहे है। शिकायतों का समाधान नहीं हो रहा है। बता दें कि लॉकडाउन से आर्थिक रूप से टूट चुके सैकड़ों परिवार अभी खुद को संभालने की जहां कोशिश कर रहे हैं, वहां बिजली कम्पनी का यह प्लान रास नहीं आ रहा है, क्योंकि इसमें मोबाइल से रिचार्ज कराने की झंझट व पैसे की कमी होने से अंधेरे में रहना पड़ रहा है। ऐसे बिजली गुल रहने की स्थिति में लोगों को मोबाइल चार्ज करना, पानी का मोटर, टीवी व रोशनी आदि की गम्भीर समस्या खड़ी हो गई है। एेसी ही समस्या जिले के नगर परिषद क्षेत्र के विभिन्न वार्ड के लोगों के समक्ष रोजाना उत्पन्न हो रही है। शहर के अधिकांश उपभोक्तओं ने विभाग के दवाब में प्रीपेड मीटर लगा तो लिया अब नई-नई समस्याओं का सामना करना पर रहा है। जिन लोगों को इससे संबंधित जानकारी नहीं है वे लोग रोज विभाग के दफ्तर का चक्कर लगा रहे हैं।

चार दिन में ही कट गया 1000 रुपए

पहले घर पर 700 से 1000 के बीच बिल आता था। अभी 3000 तक का बिल आता है। 14 मई को 2500 रुपए भरवाया हूं। इसमें से 1000 चार दिन में कट चुका है। विभाग में शिकायत करने गया तो वहां तरह-तरह की बातें बता दी गयी। 27 अप्रैल 2022 को 2500 रुपया डलवाया था। 12 दिन में समाप्त हो गया। समस्या बताने के बाद भी विभाग से समाधान नहीं हुआ।-प्रितेश कुमार- थाना रोड, खगड़िया।

6 की जगह 9 हजार का आ रहा बिल

पहले 6 हजार के अंदर ही बिल आता था। अभी 280 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से बिल आ रहा है। प्रत्येक दिन रिचार्ज कर रहे हैं। पहले भी मेरे दुकान में डीप फ्रीजर भी चलता था। अभी वह बंद है। इसके बाद भी महीने में 9 हजार के आसपास बिल आ रहा है। बिजली विभाग को इस मामले को देखना चाहिए। -प्रमोद कुमार साह- होटल संचालक, कचहरी रोड, खगड़िया।

मीटर चेक करने पर भी बनी हुई है समस्या

पिछले शुक्रवार 5 हजार भरवाया था। अभी उसे रुपए की कहानी समाप्त हो चुका है। जबकि स्कूल अब 4 घंटे ही चल रहा है। विभाग को शिकायत की थी। विभाग से लोग आकर मेरा मीटर चेक किये थे। एक सौ वाट का बल्व लगा कर पता नहीं क्या चेक किये नहीं किये। बताकर गए मीटर ठीक है। हमलोगों को टेकनिकल इतनी बात की जानकारी नहीं है।
समरेश जलान, स्कूल संचालक, खगड़िया।

350 की जगह लग रहा 1200 महीने
मैं अपने दुकान में दो हेलोजेन बल्व और मात्र एक पंखा का इस्तेमाल कर रहा हूं। स्मार्ट मीटर लगाने से पूर्व 350 रुपए प्रतिमहीने बिल आता था। लेकिन अब विभाग द्वारा स्मार्ट मीटर लगाए जाने के बाद 1200 रुपए महीने चुकाना पड़ रहा है। इसके अलावा घर में अबतक स्मार्ट मीटर नहीं लगाया गया है और बिल भी आना बंद हो गया है। विभाग में शिकायत किए लेकिन कोई सुनने वाला नहीं है।
श्रवण कुमार, कपड़ा व्यवसाई नगर परिषद रोड, खगड़िया।

1100 का रिचार्ज महीने भर नहीं चला

मैं अपने दुकान में 4 हेलोजेन बल्व और एक पंखा का इस्तेमाल कर रहा हूं। स्मार्ट मीटर लगाने से पूर्व 400 रुपए प्रतिमहीने बिल आता था। लेकिन स्मार्ट मीटर लगाए जाने के बाद 1100 रुपए महीने भी कम पड़ रहा है। रिचार्ज किया गया रुपए महीने से पूर्व ही समाप्त हो जाता है। विभाग स्पष्ट कर रहा कि मेरी कितना राशि बकाया है।
- सूरज कुमार, लेदर बैग दुकानदार, नगर परिषद रोड, खगड़िया।

अब ढ़ाई हजार तक पहुंच जा रहा है बिल
जनवरी में 30 यूनिट, फरवरी में 76, मार्च में 124 और अप्रैल में 99 यूनिट। जनवरी में 3 हजार, फरवरी में 00, अप्रैल 1800, मई में अभी तक 1200 डाल चुके हैं। आपका कुछ पैसा बांकी है। इसलिए इतना बिल आता है। लेकिन मीटर में गड़बड़ी है। बहुत जगह से सूचना मिली है विभाग में शिकायत करने से कोई फायदा नहीं होगा।
-वेद प्रकाश साह- कंप्यूटर रिपेयर दुकानदार।

कार्यालय में एवं टाॅल फ्री नंबर पर दर्ज कराएं प्रीपेड मीटर संबधित समस्या और शिकायत
प्रीपेड मीटर से संबंधित समस्या या शिकायत दर्ज कराने के लिए उपभोक्ता सीधे अपने नजदीकी बिजली विभाग के कार्यालय से संपर्क कर सकते या 1912 टाॅल फ्री नंबर पर शिकायत दर्ज कर करते हैं। किए गए शिकायतों पर जल्द कार्रवाई की जाएगी।- अजीत कुमार, कार्यपालक अभियंता, विद्युत विभाग, खगड़िया।

खबरें और भी हैं...