फजीहत:महेशखूंट चौक पर कचरे के ढेर पर खाने-पीने की दुकानें, मुख्य सड़क पर अतिक्रमणकारी

खगड़िया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एप्रोच रोड को कब्जा कर सजाया गया होटल और बगल में फैला गंदगी का अंबार। - Dainik Bhaskar
एप्रोच रोड को कब्जा कर सजाया गया होटल और बगल में फैला गंदगी का अंबार।
  • एनएच चौराहे पर खुले में सजने वाली दुकानों में लोगों को परोसी जा रही बीमारी
  • मुख्य चौक पर एक तरफ अतिक्रमण तो दूसरी तरफ है गंदगी का अंबार

जिले के हृदय स्थल कहे जाने वाले एनएच-31 और एनएच-107 का संगम स्थल महेशखूंट मुख्य चौराहा पर इस कदर गंदगी का अंबार है कि वहां बगैर मास्क लगाए खड़ा होना भी मुमकिन नहीं हैं। इस गंदगी के बीच मुख्य सड़क पर अतिक्रमण कर फुटपाथ पर सजी खाने-पीने की दुकानों पर लोगों को व्यंजन के साथ-साथ बीमारी भी परोसी जा रही है। एनएच चौराहे की यह गंदगी से भरी तस्वीर प्रशासनिक स्तर से चलाए जा रहे स्वच्छता अभियान की पोल खोलने के लिए काफी है। जिसके नाम पर शहरी क्षेत्र के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में पानी की तरह पैसे बहाए जा रहे हैं। बताते चलें कि महेशखूंट चौराहा महेशखूंट पंचायत के अन्तर्गत आता है। हालांकि उक्त पंचायत में अभी तक ओडीएफ फेज टू के तहत स्वच्छ भारत मिशन अभियान का काम शुरू नहीं हुआ है। खगड़िया जिले के क्षेत्रफल के अनुसार बीच में बसे महेशखूंट जिले का हृदय स्थल माना जाता हैं। यहां व्यापरियों की मंडी है, तो वाहनों के पार्ट्स आदि की काफी सारी दुकानें हैं। इसी चौराहे से सहरसा जाने के लिए एनएच-107 और गोगरी जमालपुर एवं अगुवानी घाट तक जाने वाली स्टेट हाईवे से जुड़ती है। वहीं विभिन्न शहरों सहित झारखंड और बंगाल जाने के लिए यात्री यहां रुकते हैं।

एनएचआई द्वारा बनाए गए नाले में भरा है कचरा, दुर्गंध से परेशानी
महेशखूंट चौराहा पर एप्रोच पथ और मेन लाइन के बीच एनएचआई विभाग के द्वारा नाला बनाया गया है। जो कचरे से भरा पड़ा है। आलम यह है कि करीब तीन सौ मीटर तक नाले में कचरा भरकर सड़क पर आ गया है, जिससे उठने वाली दुर्गंध लाेगों को बीमार बनाने के लिए काफी है।

चौराहों पर दुकानदारों का है अवैध कब्जा
महेशखूंट चौराहे पर चारों तरफ एनएच की एप्रोच पथ वाली सड़क पर अतिक्रमणकारियों ने कब्जा जमा रखा है। कहीं सड़क पर गुमटी और झोपड़ी बनाकर स्थायी दुकान बना लिया गया है तो कहीं फुटकर दुकानदारों का कब्जा है। बची जगह को यात्री वाहन चालकों ने कब्जा कर रखा है। चौराहे की चौड़ाई एक चौथाई भाग ही आवागमन के लिए बची है। उस पर भी चौराहा पर अवैध रूप से वाहन स्टैंड संचालित होता है। जिससे जाम की स्थिति बनी रहती है।

दुर्गा पूजा और छठ महापर्व के मौके पर हुई थी साफ-सफाई
महेशखूंट पंचायत की मुखिया श्वेता कुमारी के पति प्रवीण कुमार चौरसिया ने बताया कि अभी पंचायत में लोहिया स्वच्छता अभियान के तहत स्वच्छ भारत मिशन फेज टू का काम शुरू नहीं हुआ है। इसलिए दिक्कत है। सफाई कर्मी बहाल किए जाएंगे।

गंदगी के बीच खाना-पीना बीमारियों को आमंत्रित करता है

शरीर के साथ साथ घर को भी साफ रखना चाहिए। गंदगी के बीच खाना-पीना गंभीर बीमारियों को आमंत्रित करता है। लोगों को इसके प्रति जागरूक रहना चाहिए, तभी वे बीमारियों से बच सकते हैं।
-डॉ. वाईएस प्रयासी।, उपाधीक्षक, सदर अस्पताल, खगड़िया।

खबरें और भी हैं...