परेशानी:बेतरतीब पार्किंग से महेशखूंट चौक जाम, रेंगती रही गाड़ियां

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ग्राउंड रिपोर्ट , जैसे-तैसे वाहन लगा देने से हो रही जाम जाम की समस्या

खगड़िया जिले का ह्रदय स्थल माने जाने वाले महेशखूंट एनएच रोड चौराहा इन दिनों जाम की चपेट से कराह रहा है। सुबह से लेकर देर शाम तक यहां बेवजह जाम लगने से वाहनों के आवागमन में कठिनाई होती है, तो यात्रा करने वाले लोगों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ता है। एनएच चौराहा पर यत्र-तत्र वाहन चालकों द्वारा वाहन खड़ी कर दी जाती है, जिससे यातायात सेवा बाधित हो जाती है। चौराहा पर सहरसा जाने वाली एचएन 107 के तरफ आधे से ज्यादा सड़कों पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा है, जिसके बाद मुख्य सड़क पर ही ऑटो, जीप व बसों को रोकर यात्रियों को चढ़ाया उतारा जाता है। जिससे पीछे वाहनों की कतार खड़ी जाती है। वहीं हाल अगुवानी जाने वाली रास्ते पर होती है, जहां दोनों किनारे ऑटो और अन्य वाहनों का ठहराव होता है। वाहनाें के खड़े रहने से लोगों को कड़ी धूप में परेशान होना पड़ता है। जबकि एनएच 31 पर भी सड़क पर ही बस व अन्य वाहन कतारबद्व तरीके से खड़ी कर दी जाती है। चौराहा के चारों तरफ वाहनों का अव्यवस्थित तरीके से खड़े रहने से वहां जाम कभी खत्म ही नहीं हो पाती। जबकि जाम की समस्या से निपटने के लिए पुलिस की मौजूदगी भी नहीं होती। ऐसे में वाहन चालकों के बीच तू- तू, मैं-मैं व गाली गलौज होना आम हो जाता है।

सिर्फ बड़े अधिकारी के आने पर दिखती है व्यवस्थित
बताते चलें कि एनएच चौराहा पर पहले जाम की समस्या से निपटने तथा ट्रैफिक व्यवस्था संभालने के लिए पुलिस जवानों की ड्यूटी लगाई गई थी। लेकिन चुनाव संपन्न होने के बाद वहां कोई पुलिसकर्मी नजर नहीं आते। प्रशासनिक गतिविधि नहीं होने के कारण चौराहा पर बेवजह जाम की समस्या बनी रहती है। बताते चलें कभी कभार कोई बड़े अधिकारी या राजनेता के आगमन के वक्त वह चौराहा पूरी तरह व्यवस्थित रहता है। बीत दिनों डीएम और बेगूसराय प्रक्षेत्र के डीआईजी के गोगरी आगमन पर महेशखूंट में कुछ घटों के लिए ट्रैफिक व्यवस्था चाक चौबंद देखी गई थी। उसके बाद से वही हाल है।

लिंक रोड पूरी तरह अतिक्रमित, सजती हैं दुकानें
महेशखूंट में आलम यह है कि वाहनों के आवागमन के लिए एनएच के दोनों तरफ बनाए गए लिंक रोड को अतिक्रमणकारियों द्वारा कब्जा कर वहां दुकानें सजाई जा रही है। जिससे वाहनों को आने-जाने के लिए मुख्य सड़क पर ही निर्भर रहना पड़ा है। सड़क पर ठेला के साथ कुर्सी टेबल लगाकर मिनी हाेटल सजाया जाता है।

खबरें और भी हैं...