सख्ती:शहर के वार्ड 7,8 और 10 में नल-जल योजना की पदाधिकारियों ने की जांच

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शिकायत पर कार्य की जांच करने पहुंचे एसडीओ एवं धावादल। - Dainik Bhaskar
शिकायत पर कार्य की जांच करने पहुंचे एसडीओ एवं धावादल।
  • अनियमितता के खिलाफ नगर पार्षद ने दर्ज कराया था परिवाद

खगड़िया नगर परिषद क्षेत्र में शुक्रवार को सदर एसडीओ अमित अनुराग के नेतृत्व में नगर कार्यपालक पदाधिकारी, कनीय अभियंता और तकनीकी धावादल ने वार्ड 7, 8 और 10 में मुख्यमंत्री की महत्वाकांक्षी योजना नल जल योजना में हुई भारी अनियमितता, घपलेबाजी और फर्जीवाड़े की सघन जांच किया गया। गौरतलब है कि नगर पार्षद मीना गुप्ता खंडेलिया और नगर पार्षद सविता देवी ने वार्ड संख्या 7 और वार्ड 10 में चल रहे नल जल योजना और सागरमल चौक से थाना रोड तक की मेन रोड वाली नवनिर्मित सड़क और आरसीसी नाला के निर्माण कार्य में हुई भारी तकनीकी और वित्तीय अनियमितता के संबंध में नगर कार्यपालक पदाधिकारी, एसडीओ, डीएम और निगरानी अन्वेषण ब्यूरो तकनीकी सेल पटना में परिवाद दायर किया था। एसडीओ ने जिस तरह से शुक्रवार को धावा दल लेकर सूक्ष्मता से जांच की, वैसा हाल के काफी वर्षो में नही देखा गया। एक तरफ एसडीओ के सख्त और तल्ख तेवर से शहरवासी काफी खुश नजर आए, तो वहीं नगर परिषद के पदाधिकारी, कर्मी और संवेदकों के चेहरे का रंग उड़ता नजर आ रहा है। आम लोगों में चर्चा है कि इसबार विकास की राशि की बंदरबांट करने वालों की खैर नहीं रहने वाली है। लोग एसडीओ द्वारा दोषियों के विरुद्ध होने वाली कड़ी कारवाई की प्रतीक्षा कर रहे हैं। नगर पार्षद मीना गुप्ता खंडेलिया से संपर्क करने पर उन्होंने बताया कि सुशासन की इस सरकार में भ्रष्टाचारियों की पोल खुलना और कारवाई होना तय है। उन्हें जिला प्रशासन पर और विशेष तौर पर डीएम एवं सदर एसडीओ पर पूरा विश्वास है कि नगर परिषद द्वारा होनेवाली इन योजनाओं में कृत भ्रष्टाचार के दोषी अब बच नहीं पाएंगे।

खबरें और भी हैं...