सुविधा:अब बच्चों को नाश्ते में मिलेंगे मौसमी फल व अंकुरित चना

खगड़ियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आंगनबाड़ी केंद्र पर बच्चों को लड्डू देती सहायिका। - Dainik Bhaskar
आंगनबाड़ी केंद्र पर बच्चों को लड्डू देती सहायिका।

जिले में बढ़ रही भीषण गर्मी के कारण हीटवेव का असर देखते हुए समाज कल्याण विभाग ने आंगनबाड़ी केंद्रों में नामांकित बच्चों को पोषाहार के रूप में कैलोरी एवं प्रोटीन युक्त भोजन उपलब्ध कराने के उद्देश्य से आवश्यक बदलाव किया है। आईसीडीएस निदेशालय से जारी पत्र में कहा गया है कि आंगनबाड़ी केंद्रों पर 3 से 6 वर्ष के बच्चों को स्कूली अवधि के दौरान नाश्ता व भोजन के रूप में दो बार भोजन दिया जाएगा। इसके लिए सप्ताह के सभी दिन नाश्ते और खाने में अलग-अलग भोजन दिया जाएगा।

इसके लिए आईसीडीएस निदेशालय ने जिला कार्यक्रम पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा है कि आंगनबाड़ी केंद्रों में नामांकित बच्चों को पोषाहार के रूप में कैलोरी एवं प्रोटीन युक्त भोजन उपलब्ध कराना जरूरी है। इसके लिए आवश्यक भोजन के मेन्यू में बदलाव किया गया है। अब बच्चों को सप्ताह में सभी दिन नाश्ते व भोजन में प्रोटीन व कैलोरीयुक्त भोजन उपलब्ध कराया जाएगा।

बच्चों को नास्ते में केला, पपीता जैसे मौसमी फल, दूध, अंकुरित चना व गुड़, भुना चना और मूंगफली जैसे पदार्थ दिए जाएंगे। सप्ताह के अलग-अलग दिवस पर अलग-अलग पदार्थ बच्चों को नास्ते के रूप में दिया जाएगा। इसके अलावा बच्चों को आंगनबाड़ी केंद्रों पर पूरक आहार संबंधित भोजन भी उपलब्ध कराया जाएगा।

जानिए किस दिन कौन सा भोजन होगा उपलब्ध

  • सोमवार नाश्ता - भुना चना, मूंगफली, भोजन - चावल का पुलाव।
  • मंगलवार नाश्ता - केला, पपीता या मौसमी फल, भोजन- आलू-चना सब्जी व चावल।
  • बुधवार - नाश्ता अंकुरित चना और गुड़,भोजन - सोयाबीन सब्जी, चावल।
  • गुरुवार- नाश्ता - केला, पपीता या मौसमी फल, भोजन रसियाव।
  • शुक्रवार नाश्ता - दूध, भोजन- कद्दू दाल व चावल/ साग दाल व चावल।
  • शनिवार - नाश्ता - केला, पपीता या फल, भोजन - खिचड़ी।
खबरें और भी हैं...