• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Khagaria
  • Showing The Empty Tetra Pack Of Liquor, The Relatives Said That My Son Shiv And Deepak Lost Their Lives By Drinking This.

शराब पीने से युवक की मौत:शराब की खाली टेट्रा पैक दिखाते हुए परिजनों ने कहा इसी को पीने से गई मेरे बेटे शिव और दीपक की जान

खगड़िया10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दो युवक की संदेहास्पद मौत के बाद रविवार को अंबा इचरूआ में जांच करने पहुंची पुलिस टीम और मौजूद लोगों की भीड़। - Dainik Bhaskar
दो युवक की संदेहास्पद मौत के बाद रविवार को अंबा इचरूआ में जांच करने पहुंची पुलिस टीम और मौजूद लोगों की भीड़।
  • पुलिस पर लगाया धमकाने का आरोप, बोले- शराब की बात मत बोलो, नहीं तो हो जाएगा जेल
  • 24 घंटे तक पुलिस की कार्रवाई नहीं होने पर जनप्रतिनिधियों और समाजसेवियों ने उठाए सवाल

जिले के अलौली थाना क्षेत्र के अंबा-इचरूआ गांव में दो युवकों की संदेहास्पद स्थिति में मौत हाे गई। मृतक के पिता ने कहा बेटे की मौत शराब पीने से हाे गई है। रविवार की अहले सुबह सदर अस्पताल में इलाज के दौरान अंबा-इचरूआ गांव निवासी 33 वर्षीय शिव सदा की मौत के बाद उसके पिता रामपोद्दार सदा ने दैनिक भास्कर टीम को एक अंग्रेजी शराब के टेट्रा पैक दिखाते हुए कहा कि इसी को पीने से मेरे पुत्र की मौत हुई है। मृतक के पिता ने यह भी कहा कि पुलिस ने शराब की चर्चा किसी से नहीं करने की धमकी दी है। पुलिस ने कहा गया कि शराब की बात मत बोलो, नहीं तो जेल हो जाएगा और मुआवजा भी नहीं मिलेगा। हालांकि, जहरीली शराब पीने से दो युवक की मौत की चर्चा के बाद पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराते हुए परिजनों के बयान के आधार पर छानबीन करते हुए तस्करों के कई ठिकाने पर छापेमारी भी की। हालांकि इसमें काेई सफलता नहीं मिल पाई है। मामले में सदर एसडीपीओ सुमित कुमार ने कहा है कि मौत कैसे हुई, इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट से होगा। फिलहाल पुलिस परिजनों के बयान पर कार्रवाई कर रही है। ज्ञात हाे कि अंबा- इचरूआ गांव में 24 घंटे के भीतर शिवनंदन साह के 33 पुत्र दिलीप साह और राम पोद्दार सदा के पुत्र शिव सदा की संदेहास्पद स्थिति में मौत हो गई। जिसके बाद दोनों मृतक के पिता ने गांव के ही एक शराब तस्कर से खरीदे गए शराब के सेवन से मौत होने की बात कही है। बताया जाता है कि दिलीप सदा की मौत शनिवार को इलाज के लिए बेगूसराय ले जाने के दौरान रास्ते में हुई, जबकि शिव सदा की मौत सदर अस्पताल खगड़िया में हुई। इधर, बताया जा रहा है कि शिव और दिलीप के साथ शराब पीने वाले राघो सिंह के पुत्र संतोष कुमार एवं अन्य युवकों की भी हालत खराब है जिसका बेगूसराय और समस्तीपुर में किसी निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पहली मौत के बाद 24 घंटे तक पुलिस की कार्रवाई नहीं होने से उठाए जा रहे सवाल
दो युवक की संदेहास्पद मौत मामले में जहरीले शराब की चर्चा से एक तरफ पुलिस महकमे में हलचल मची हुई है तो दूसरी तरफ इलाके के जनप्रतिनिधियों एवं जिले के समाजसेवियों ने ऐसे गंभीर मामले में 24 तक पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं किए जाने पर सवाल उठाया है। समाजसेवी नागेन्द्र सिंह त्यागी, अलौली के प्रमुख नवीन कुमार, ग्रामीण संजय कुमार, जन वितरण प्रणाली विक्रेता श्याम कुमार एवं पूर्व जिला परिषद उपाध्यक्ष नरेश सिंह ने कहा कि जब पूर्ण शराबबंदी है तो हर तरफ शराब कैसे बिक रही है। शराब पीने से पहले एक युवक की मौत हुई तो पुलिस ने 24 घंटे तक कोई कार्रवाई क्यों नहीं की। जब बात हर तरफ फैल गया तो अब पुलिस छापेमारी कर रही है।

ग्रामीणों में पुलिस के प्रति आक्रोश, कार्रवाई नहीं करने का आरोप, परिवार में मातम
इधर इस घटना के बाद दोनों मृतक के परिजनों के बीच मातम पसरा हुआ है। मृतक दिलीप साह किसी गैस एजेंसी में वेंडर का काम करता था। जिससे उसके परिवार का भरण पोषण होता था। दिलीप की मां पिंकी देवी, पत्नी ममता देवी, 7 वर्षीय पुत्र शिवम कुमार, पांच वर्षीय पुत्र अंकुश और पुत्री नेहा कुमारी सहित सहित अन्य परिजन सदमे में हैं। जबकि इस घटना के बाद ग्रामीणों में पुलिस के प्रति आक्रोश है। ग्रामीणों का कहना है कि पुलिस शराब तस्करों पर कार्रवाई नहीं करती है। कई लोग इस धंधे में हैं।

दिलीप ने दीपक साह और शिव ने बुधन से खरीदी थी शराब
शिवनंदन साह ने बताया कि 16 सितंबर की शाम दिलीप ने शराब पी थी। रात में घर आकर सो गया, मगर उसकी तबियत बिगड़ गई। ग्रामीण चिकित्सक को बुलाकर इलाज करवाने के बाद सदर अस्पताल ले गए। जहां से बेहतर इलाज के लिए रेफर कर दिया गया। बेगूसराय ले जाने के दौरान रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। बेटे ने बताया था कि गांव के ही दीपक साह से शराब ली थी। उसने पुरानी बोतल में शराब दी। मैंने लेने से मना किया तो दीपक ने बोतल से दो चार बूंद शराब अपने मुंह में डालकर बोला सही है, ले लो। मैंने फिर मना किया तो उसने आधे दाम में ही शराब दे दी। जिसे पीने के बाद मेरी तबियत बिगड़ने लगी।

शिव के पिता बोले-दिलीप के दाह संस्कार के बाद बिगड़ी हालत
मृतक शिव सदा के पिता रामपोद्दार सदा ने बताया कि मेरे पुत्र ने गांव के ही शराब कारोबारी बुधन से शुक्रवार की रात शराब खरीदी थी और अपने अन्य साथियों के साथ उसका सेवन किया था। अगले दिन तक वह ठीक था और दिलीप के दाह संस्कार में भी गया था। जहां से लौटने के बाद उसकी तबियत बिगड़ गई। उसे दिखाई देना भी बंद हो गया। जिसके बाद पहले अलौली पीएचसी फिर वहां से सदर अस्पताल में भर्ती कराया। मगर शनिवार की अहले सुबह उसकी मौत हो गई।

खबरें और भी हैं...