सड़क निर्माण का काम रोकने पहुंचे सरपंच को खदेड़ा:सरपंच ने मजदूरों को दी गोली मारने की धमकी तो ग्रामीणों ने खदेड़ा, मनरेगा योजना से चल रहा काम

खगड़िया4 महीने पहले
ग्रामीणों ने कार्यस्थल से बुरा-भला कहकर उन्हें खदेड़ दिया।

खगड़िया जिले के गोगरी प्रखंड के पौरा पंचायत में मनरेगा योजन से हो रहे मिट्टी भराई और ईट सोलिंग कार्य को रोकने गए स्थानीय सरपंच ओमप्रकाश यादव को पौरा के ग्रामीणों ने खदेड़कर भगा दिया। ग्रामीणों ने साफ तौर पर कहा कि अब पहले की तरह मनमानी नहीं चलेगी। जनता जागरूक हो चुकी है। वो समय कुछ और था जब जनता को बरगलाकर विकास योजना की राशि हजम कर ली जाती थी।

बताया जाता है कि सरपंच वहां कराए जा रहे इस कार्य में उन्हें मुंहमांगी कमीशन मिलने अन्यथा निर्माण कार्य बंद हो जाने की बात कह रहे थे। लेकिन ग्रामीणों ने कार्यस्थल से बुरा-भला कहकर उन्हें खदेड़ दिया। उक्त प्रकरण का एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर जारी हुआ है। जिसमें ग्रामीण सरपंच को बुरा-भला कहते व गाली-गलौज करते सुनाई एवं दिखाई दे रहे हैं। ग्रामीण बोल रहे हैं मजदूर के साथ मार-पीट करेंगे तो अच्छा बात नहीं होगा। हमलोगों को इस सड़क की अति आवश्यकता है। इसे बनाए जाने में बाधा उत्पन्न ना करें। सरपंच मजदूरों और वहां काम करवा रहे ठेकेदार को गोली मारने की धमकी देने लगे। जिससे वहां अफरातफरी की स्थिति उत्पन्न हो गई।

वहीं इस मामले में सरपंच ओमप्रकाश यादव ने बताया कि मेरा कहना सिर्फ इतना था कि जिस जगह पर काम हो रहा है वहां राबड़ी नगर के लोग ही इसे करवाएंगे। लेकिन लोगों ने इस बात का विरोध कर दिया और मैं वहां से वापस आ गया। इससे ज्यादा और कुछ नहीं हुआ। इधर मामले में पौरा पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि सह लोक गायक सुनील छैला बिहारी ने बताया कि सरंपच चाहते थे कि वहां कराए जा रहे कार्य उनके द्वारा हो, नहीं तो बदले में कमिशन दिया जाय। लेकिन ग्रामीणों ने उनके इस काम का विरोध किया। उन्होंने बताया कि गांव में विकास योजना के काम को सब लोगों की सहभागिता से करना चाहिए। इसमें अवरोध पैदा करने से गांव का विकास प्रभावित होगा।