प्रशिक्षण कार्यक्रम:जीविका दीदियों को मिला अगरबत्ती बनाने का प्रशिक्षण, प्रशिक्षण के बाद दिया प्रमाण पत्र

किशनगंज7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अगरबत्ती बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त करतीं जीविका दीदियां। - Dainik Bhaskar
अगरबत्ती बनाने का प्रशिक्षण प्राप्त करतीं जीविका दीदियां।
  • बैंक ऋण उपलब्ध करवा कर अगरबत्ती का कारोबार करने के लिए किया जाएगा प्रेरित

किशनगंज प्रखंड की 33 जीविका दादियों को स्टेट बैंक ऑफ़ इण्डिया के ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान (आरसेटी) द्वारा अगरबत्ती बनाने का प्रशिक्षण दिया गया। दौला पंचायत की इन जीविका दीदियों ने दस दिनों तक चले प्रशिक्षण में खुद अगरबत्ती बनाई। प्रशिक्षण उपरांत इन्हें प्रमाण पत्र भी दिया गया। जीविका के प्रभारी जिला परियोजना प्रबंधक राजेश कुमार ने बताया कि जीविका के माध्यम से किशनगंज जिला में जीविका दीदियों को स्वरोजगार के अवसर उपलब्ध करावे जा रहे हैं। इस तरह के प्रयास से जीविका दीदियों में उद्यमिता का विकास होता है। उन्हें स्वरोजगार का अवसर प्राप्त होता है। प्रशिक्षित इन दीदियों को जीविका के माध्यम से बैंक ऋण उपलब्ध करवा कर अगरबत्ती का कारोबार करने के लिए प्रेरित किया जाएगा। जीविका एवं सरकार के विभिन्न संस्थानों के माध्यम से इन्हें स्वरोजगार करने के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है। जीविका दी दियां मसरूम उत्पादन, सिलाई, ब्यूटीशियन इत्यादि कोर्स में प्रशिक्षण प्राप्त कर स्वावलंबित हो रही हैं। वहीं जीविका दीदियों के 18 से 35 वर्ष के संतानों को उनके रुचि अनुसार दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल्य योजना के तहत नि: शुल्क आवासीय प्रशिक्षण भी दिया जाता है, ताकि वे रुचि अनुसार टेलरिंग, नर्सिंग, रिटेल मार्केटिंग इत्यादि विभिन्न कोर्स में प्रशिक्षण प्राप्त कर स्वावलंबी हो सके। किशनगंज जिला में 18 हजार से अधिक स्वयं सहायता समूह के माध्यम 2 लाख से अधिक जीविका दादियों के आर्थिक एवं सामाजिक उन्नति के लिए विभिन्न कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। जीविका दादियों को वैज्ञानिक विधि से खेती, पशुपालन एवं स्वरोजगार के अवसर - साधन एवं प्रशिक्षण उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इस अवसर पर आरसेटी के डायरेक्टर प्रवीर कुमार फैकल्टी रजनीकांत झा, अजमल एवं जीविकाकर्मी परवेश उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...