सख्ती:ग्रामीणों के बीच आपसी समन्वय बढ़ाने व अवैध तस्करी रोकने को लेकर एसएसबी ने की बैठक

गलगलिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीणों के साथ बैठक करते नेंमुगुड़ी बीओपी के सुरक्षाकर्मी व अन्य। - Dainik Bhaskar
ग्रामीणों के साथ बैठक करते नेंमुगुड़ी बीओपी के सुरक्षाकर्मी व अन्य।
  • बेटी बचाव बेटी पढ़ाओं को बल देने की ग्रामीणों से विशेष रूप से कही बात

भारत-नेपाल अंतराष्ट्रीय सीमा पर तैनात एसएसबी की 41वीं बटालियन अंतर्गत नेंमुगुड़ी बीओपी के सुरक्षा कर्मियों और ग्रामीणों के बीच नेंमुगुड़ी बीओपी परिसर में आपसी समन्वय बढ़ाने और अवैध तस्करी को रोकने को लेकर एक बैठक आयोजित की गई थी। इस बैठक की अध्यक्षता बीओपी के प्रभारी निरीक्षक एल गंगटे ने की। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों से विशेष रूप से बेटी बचाव बेटी पढ़ाओं को बल देने की बात कही। साथ ही बैठक में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए नेंमुगुड़ी बीओपी के प्रभारी निरीक्षक एल गंगटे कहा कि आप भारतीय सीमा क्षेत्र को हमसे बेहतर जानते हैं। आप के बिना सहयोग से संदिग्ध गतिविधियों पर नजर रखना असंभव होगा। इसलिए हमारे जवानों को आपलोगों के सहयोग की आवश्यकता है। उन्होंने बताया कि इस बैठक का मुख्य उद्देश्य भारत-नेपाल सीमा पर तस्करी और अवैध गतिविधियों को रोकने और लोगों में सुरक्षा की भावना जगाने के साथ-साथ ग्रामीणों और एसएसबी के बीच समन्वय स्थापित करने के लिए आयोजित की गई है। नेंमुगुड़ी बीओपी के प्रभारी निरीक्षक एल गंगटे ने कहा कि यदि हमें आप लोगों का सहयोग मिल जाए तो हम सीमा की सुरक्षा और बेहतर ढंग से कर पाएंगे और लोगों के बीच एसएसबी के प्रति विश्वास प्रबल होगा। उन्होनें बैठक में उपस्थित ग्रामीणों से उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी ली तथा किस प्रकार से उनका सहयोग किया जाय उक्त सारी बातें पर बैठक में चर्चा की गई।

खबरें और भी हैं...