सुविधा:माह के अंत तक सभी दिव्यांगजनों का बनेगा यूडीआईडी कार्ड, प्रत्येक प्रखंड में तिथिवार लगाए जाएंगे शिविर

किशनगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डीएम ने 16 अगस्त से 14 सितंबर दिव्यांगजनों से आवेदन संग्रह करने के लिए विशेष शिविर लगाने के दिए निर्देश

31 अगस्त तक सभी दिव्यांगजनों का यूडीआईडी कार्ड शत प्रतिशत निर्गत किया जाएगा। दिव्यांगजनों से आवेदन संग्रह करने के लिए प्रखंडवार विशेष शिविर का आयोजन किया जाएगा। जिला प्रशासन द्वारा प्रखंडवार शिविर की तिथि व स्थल निर्धारित कर दिया गया है। डीएम श्रीकांत शास्त्री ने आगामी 16 अगस्त से 14 सितंबर तक शिविर का आयोजन करने का निर्देश दिया है। यूडीआईडी कार्ड के लिए दिव्यांगजनों को आवेदन के साथ साथ आधार कार्ड, दिव्यांगता प्रमाणपत्र, दो फोटो, बैंक पासबुक की मूल प्रति छायाप्रति लाना अनिवार्य किया गया है। बहादुरगंज प्रखंड मुख्यालय परिसर के अलावे चार जगहों में शिविर का आयोजन 16 , 17 , 18 एवं 20 अगस्त को ,कोचाधामन में शिविर का आयोजन 22,23 व 24 अगस्त को, पोठिया में 25, 26 एवं 27 अगस्त को, दिघलबेंक में 29 , 30 ,31 अगस्त एवं एक सितम्बर को, ठाकुरगंज में शिविर का आयोजन 2,3,5 एवं 6 सितम्बर को, टेढ़ागाछ प्रखंड मुख्यालय में शिविर का आयोजन 7 ,8 ,9 एवं 10 सितम्बर को तथा किशनगंज प्रखंड में 12 , 13 एवं 14 सितम्बर को सुबह 10 बजे से शाम पांच बजे तक शिविर लगेगा।
बीडीओ होंगे नियंत्री पदाधिकारी : डीएम ने शिविर की सफलता के लिए संबंधित प्रखण्ड विकास पदाधिकारी को नियंत्री पदाधिकारी बनाया है। साथ ही संबंधित स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को संयोजक पदाधिकारी के तौर पर कार्यों का निष्पादन करने का निदेश दिया है। यदि कोई नये दिव्यांगजन अपना दिव्यांगता प्रमाण पत्र बनवाने के लिए इन शिविरों में आते हैं तो उन्हें यूडीआईडी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन किये जाने के लिए सिविल सर्जन कायार्लय से संपर्क करना अनिवार्य होगा।

मॉनिटरिंग के लिए किया गया सेल का गठन
जिले में दिव्यांगजनों को प्रदान किये जाने वाले यूडीआईडी कार्ड के त्वरित निष्पादन एवं मॉनिटरिंग के लिए सेल का गठन किया गया है। सिविल सर्जन की अध्यक्षता में अनुमंडल पदाधिकारी, सहायक निदेशक, जिला प्रबंधक को मॉनिटरिंग सेल में शामिल किया गया है। डीएम ने सभी बीडीओ को शिविर के आयोजन से पूर्व प्रचार-प्रसार के लिए प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करने का निदेश दिया है। साथ ही स्थानीय जनप्रतिनिधि, विकास मित्र, पंचायत सचिव, महिला पर्यवेक्षिका, आशा कार्यकर्त्ता आदि का सहयोग लेते हुए वार्ड स्तर तक इन शिविरों की सूचना पहुंचाने को कहा है।

खबरें और भी हैं...