किशनगंज में स्कूल के शिक्षकों पर गंभीर आरोप:ग्रामीणों ने लगाए कई गंभीर आरोप, लोगों ने जमकर किया विरोध; मचा बवाल

किशनगंज2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

किशनगंज जिले के प्राथमिक विद्यालय बालूबाड़ी के शिक्षकों पर अभिभावकों और स्थानीय ग्रामीणों द्वारा कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं। जिसको लेकर लोगों ने जमकर बवाल किया है। मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को किशनगंज के हालामाला पंचायत अंतर्गत स्थित प्राथमिक विद्यालय बालूबाड़ी में ग्रामीणों ने पहुंचकर जमकर बवाल किया है। साथ ही बच्चों के अभिभावकों और ग्रामीणों ने स्कूल के शिक्षको पर आरोप लगाते हुए शिक्षको का जमकर विरोध किया हैं।

ग्रामीणों ने बताया कि स्कूल की जर्जर अवस्था को देखते हुए बच्चे आना ही नहीं चाहते हैं। स्कूल में शिक्षको के द्वारा मवेशी का चारा रखा जाता है। साथ ही स्कूलों के क्लासरूमो में निजी जलावन रखे जाते है। पहले इसी स्कूल में 250 से 300 बच्चे पढ़ने आते थे,मगर अब शिक्षकों की मनमानी और स्कूल में पढ़ाई नहीं होने के कारण 50 बच्चे भी रोजाना नही आते है। किसी-किसी दिन एक भी बच्चा नहीं आता है। और शिक्षक अपने मन से बच्चों की हाजरी बना देते हैं। साथ ही शिक्षको द्वारा मध्यान भोजन में भी गमन किया जाता हैं। मध्यान भोजन भी बच्चो को नियमानुसार नही दिया जाता है।

साथ ही लोगों ने अन्य आरोप लगाते कहा कि,मीटिंग का हवाला देकर अकसर शिक्षक स्कूल से गायब रहते हैं। प्राथमिक विद्यालय बालूबाड़ी के शिक्षकों की मनमानी के कारण छात्रों का भविष्य अंधकार में जाते हुए नजर आ रहा हैं। उक्त आरोपों को लगाते हुए स्थानीय ग्रामीणों ने जमकर बवाल किया है। साथ ही जिला प्रशासन से कारवाई की मांग की है।