कार्रवाई:संग्रामपुर के वार्ड सात से नल-जल योजना की राशि में लूट, केस दर्ज

चाननएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पानी के पाइप मे बांधी  गई बकरी। - Dainik Bhaskar
पानी के पाइप मे बांधी गई बकरी।
  • वार्ड क्रियान्वयन समिति ने बोरिंग के बाद पानी टंकी लगाना ही भूला
  • पूर्व वार्ड क्रियान्वयन समिति ने दो साल पहले ही उठायी योजना की राशि

सरकारी विकास योजनाओं में किस कदर भ्रष्टाचार हावी है यह बात अगर समझनी है तो चानन प्रखंड क्षेत्र के संग्रामपुर पंचायत के वार्ड नं 7 में नलजल योजना में मची लूट इसका जीता जागता उदाहरण है। जहां नल-जल योजना में लाखों रुपए खर्च होने के बावजूद वार्ड क्षेत्र के ग्रामीणों को एक बूंद पानी तक नसीब नहीं हो सका है। मजबूरन इस भीषण गर्मी में यहां के लोगों को पेयजल संकट की समस्या से दो-चार होना पड़ रहा है। इस वार्ड में बोरिंग तो किया गया है लेकिन जलमीनार पर टंकी लगाना भूल गया। सभी घरों के तक पाईप बिछा दिया गया है। जो कि अब टूट रहा है। आश्चर्य तो तब हुआ जब पानी की पाईप में लोग जानवरों को बांध रहे हैं। वहीं ग्रामीणों की शिकायत पर गठित जांच कमेटी की रिपोर्ट पर मुख्यमंत्री ग्रामीण नलजल योजना में गड़बड़ी करने वाले वार्ड कार्यान्वयन एवं प्रबंधन समिति के खिलाफ कानूनी कार्रवाई अब शुरू कर दी गई है।

बीडीओ ने कराया भ्रष्टाचार का मामला दर्ज
संग्रामपुर पंचायत के वार्ड नं 7 में पूर्व वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के द्वारा योजनाओं की राशि उठाव कर काम को अधूरे छोड़े जाने पर प्रबंधन समिति के ऊपर शिकंजा कसा गया है। बीडीओ बिनोद कुमार सिंह ने संग्रामपुर पंचायत के वार्ड 7 के पूर्व वार्ड सदस्य नरेश पंडित एवं सचिव सुनील कुमार पिता अशर्फी यादव के खिलाफ भ्रष्टाचार का मामला दर्ज कराया है। दरअसल पंचायत के वार्ड नं 7 में वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के द्वारा 1433100 रुपए प्राक्कलित राशि से वार्ड क्षेत्र में ग्रामीणों को नल-जल की आपूर्ति करवानी थी। लेकिन समिति के चेक संख्या 483825 से 20 जून 2019 को 3 लाख रुपए एवं चेक संख्या 484826 से दिनांक 4 जनवरी 2020 को 1133100 रुपए की निकासी के बावजूद योजना को अधूरा छोड़ दिया गया।

योजना की राशि का किया गया बंदरबांट
पूर्व वार्ड अध्यक्ष नरेश पंडित एवं सचिव के सुनील कुमार के द्वारा योजनाओं की सारी राशि का बंदरबांट कर ग्रामीणों को उक्त योजना के लाभ से वंचित कर दिया गया ।आक्रोशित ग्रामीणों ने शिकायत दर्ज कराई और फिर तकनीकी सहायक प्रीतम कुमारी की जांच अनुशंसा पर पूर्व वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति के खिलाफ चानन थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।वहीं मुख्यमंत्री नलजल योजना में गड़बड़ी करने वालों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के बाद अन्य वार्ड क्रियान्वयन एवं प्रबंधन समिति सदस्यों में हड़कंप मचा हुआ है।

खबरें और भी हैं...