परेशानी:बड़हिया स्टेशन पर ट्रेनों के ठहराव को लेकर दूसरे दिन भी रेल चक्का जाम, 35 घंटे बाद सेवा बहाल

बड़हियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिचालन बंद होने के कारण बड़हिया स्टेशन पर बैठे परेशान यात्री। - Dainik Bhaskar
परिचालन बंद होने के कारण बड़हिया स्टेशन पर बैठे परेशान यात्री।
  • छठे राउंड की वार्ता के बाद एडीआरएम विभुति गुप्ता व डीएम संजय कुमार ने दिया ठहराव का आश्वासन
  • 15 दिनों के अंदर स्टेशन पर पाटलीपुत्रा एक्सप्रेस के ठहराव की कही बात
  • ईसीआर समय-समय पर जारी करता रहा बुलेटिन, पाटलीपुत्रा पर सवार यात्रियों को डीएम ने बस से पहुंचाया पटना

बड़हिया स्टेशन पर विभिन्न ट्रेनों के ठहराव को लेकर रेल संघर्ष समिति का रविवार से शुरू हुआ रेल चक्का जाम दूसरे दिन सोमवार को भी जारी रहा। जिसके चलते रेल यात्रियों को सफर करने में भारी परेशानी उठानी पड़ी है। इसके समर्थन में नरहिया बाजार भी दूसरे दिन बंद रही। इस आंदोलन को लेकर रेल संघर्ष समिति के सदस्यों से रेलवे के अधिकारियों की कई दौर की बातचीत हुई लेकिन कोई परिणाम नहीं निकल सका। सोमवार को भी रेल संघर्ष समिति के सदस्य व स्थानीय लोग पूरे जोश के साथ धरने पर बैठे रहे। वहीं बड़हिया स्टेशन पर रविवार से ही हटिया पटना पाटलिपुत्र एक्सप्रेस लगी रही। इसके यात्रियों को रविवार को जिलाधिकारी ने बस के माध्यम से पटना पहुंचाया। बड़हिया स्टेशन पर चल रहे आंदोलन को देखते हुए पूर्व मध्य रेल द्वारा पटना-मोकामा-किऊल रेलखंड से ंगुजरनेवाली 43 गाड़ियों को रद्द करने की खबर सामने आई है। इसके अलावा 63 ट्रेनों के रूट को डायवर्ट को चलाया गया। सोमवार की देर शाम 5:30 बजे के आस-पास एडीआरएम विभूति कुमार एवं डीएम संजय कुमार ने लिखित आश्वासन देते हुए 15 दिनों के अंदर पाटलीपुत्रा एक्स. के ठहराव की बात कही तब जाकर लोग माने और रेल परिचालन को शुरू किया जा सका।

जनसेवा व अन्य ट्रेनों का 60 दिनों के अंदर क्रमबद्ध शुरू होगा ठहराव
दानापुर मंडल के एडीआरएम ने प्रदर्शनकारियों से कई राउंड बात की, लेकिन बात नहीं बनी। आंदोलन कर रहे प्रदर्शनकारियों का कहना है कि जब तक रेलवे उनकी मांगों को नहीं मानती आंदोलन जारी रहेगा। सोमवार की शाम छठी बार 5:30 बजे संघर्ष समिति के सदस्यों और रेल व जिला प्रशासन के बीच हुई वार्ता के बाद रेल प्रशासन ने लिखित आश्वासन दिया कि 15 दिनों के अंदर पाटलीपुत्रा एक्सप्रेस का ठहराव दे दिया जाएगा। जनसेवा और अन्य ट्रेनों का क्रमबद्ध तरीके से 60 दिनों के अंदर ठहराव की जाएगी।

आस-पास के हॉल्ट पर है ट्रेनों का ठहराव, बड़हिया में नहीं रुकती
लोग रात भर रेल पटरियों पर बैठे रहे। आंदोलनकारियों का कहना है कि रेलवे प्रशासन द्वारा बड़हिया स्टेशन के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है। पहले कोरोना के कारण कई प्रमुख ट्रेनों का ठहराव खत्म कर दिया गया। अब जब स्थिति सुधर गई है तो भी ट्रेनों को ठहराव नहीं दिया जा रहा है। जबकि स्टेशन के अगल-बगल के हॉल्टों पर भी ट्रेनों को रोका जा रहा है। आंदोलनकारियों ने कहा कि यह हमारे मान-सम्मान की बात है।

5 राउंड के बातचीत के बाद भी नहीं निकला हल
रविवार से चल रहे आंदोलन को लेकर रेल अधिकारी भी परेशान दिख रहे हैं। आंदोलन खत्म करने को लेकर अधिकारी की बातचीत का दौर जारी है। आंदोलनकारियों और रेल प्रशासन के बीच अब तक पांच राउंड की बातचीत हो चुकी है। लेकिन अभी तक रेलवे अधिकारियों की तरफ से कोई ठोस आश्वासन नहीं दिया गया है। रेलवे पटरी पर बैठे लोगों का कहना है कि जब तक मांगों को पूरा नहीं किया जाता है। तब तक यह आंदोलन खत्म नहीं होगा।

राजस्व के मामले में भी रेलवे बोल रही झूठ
लोगों ने कहा कि रेलवे ने बड़हिया स्टेशन के राजस्व के मामले में झूठी जानकारी दी। लोगों का कहना था कि हमलोगों को बताया गया कि यहां राजस्व सबसे कम है। जबकि आरटीआई से मांगी गई जानकारी में रेलवे ने खुद बताया कि यहां तीन करोड़ से अधिक का राजस्व मिलता है। जबकि पास के अभयपुर में 1.80 करोड़ का राजस्व प्राप्त हुआ है। बावजूद यहां ट्रेनों का ठहराव है।

65 जोड़ी ट्रेनों का रूट बदला 37 जोड़ी ट्रेनें की गई रद्द

लखीसराय| बड़हिया में आंदोलन के चलते रेलवे ने किऊल होकर चलने वाली 65 जोड़ी ट्रेनो का रूट बदल दिया है। 37 जोड़ी ट्रेनें रद्द कर दी गई है। ईसीआर ने इसकी सूचना जारी की है। किऊल-मोकामा-बरौनी रूट पर ट्रेनो का परिचालन रविवार से ही बंद है। रेलवे वैकल्पिक रूट पर ट्रेनों का परिचालन कर रहा है। लंबी दूरी की ट्रेनों को मार्ग बदल कर चलाया जा रहा है। किऊल के रास्ते बरौनी को जाने वाली ट्रेनें किऊल-जमालपुर-मुंगेर होकर चलाई जा रही है। भागलपुर रूट को किऊल- गया एवं जमालपुर के रास्ते चलाई जा रही है। रेलवे ने सोमवार को 37 जोड़ी मेल, एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों को रद्द कर दिया है। भागलपुर से आनंद विहार को जाने वाली विक्रमशिला एक्सप्रेस सोमवार को रद्द कर दी गई। दानापुर से साहिबगंज को जाने वाली 13236 डाउन एक्सप्रेस भी रद्द रही। 22948 भागलपुर- सूरत एक्सप्रेस, 15658/15657 कामाख्या- दिल्ली ब्रहपुत्र में किऊल- गया होकर चली। सिंकन्दराबाद से दरभंगा को जाने वाली 17007 एक्सप्रेस को किऊल के बाद डायवर्ट रूट जमालपुर- मुंगेर- बरौनी के रास्ते चलाई गई। 13419, भागलपुर- मुजफ्फरपुर जनसेवा, 13029/ 13030 हावड़ा- मोकामा एक्सप्रेस, 12924/12023 पटना- हावड़ा जनशताब्दी, 18622/ 18621 हटिया- पटना पाटलिपुत्र एक्सप्रेस, 13401/ 13402 भागलपुर- दानापुर एक्सप्रेस,13332/ 13331 पटना- धनबाद, 12352 राजेंद्रनगर- हावड़ा एक्सप्रेस को रद्द कर दिया गया। 12303 हावड़ा- नई दिल्ली पूर्वा एक्सप्रेस आसनसोल से डीडीयू के बीच रद्द रही। झाझा- किऊल-पटना के बीच चलने वाली सभी पैसेंजर ट्रेनें रद्द कर दी गई है। बरौनी रूट से हावड़ा व सियालदह को जाने वाली ट्रेनों को कटिहार होकर चलाई गई।

खबरें और भी हैं...