मधेपुरा में अंतिम सोमवारी पर उमड़ी श्रद्धालुओं की भीड़:मधेपुरा से सिंहेश्वर धाम तक लगा 7 किलोमीटर लंबा जाम, मंदिर का बेरिकेडिंग भी टूटा

मधेपुरा2 महीने पहले

सावन की अंतिम सोमवारी को लेकर ऋषि श्रृंग की तपोभूमि सिंघेश्वर धाम में आज बाबा भोले का जलाभिषेक करने भारी संख्या में भक्तों की भीड़ पहुंची। स्थिति यह रही कि मधेपुरा से सिंहेश्वर तक एनएच 106 पर दोपहर तक महाजाम लगा रहा।

पूरी रात और दोपहर के बाद तक लोग बाबा मंदिर जाने के लिए चलते रहे। कई लोगों ने बताया कि वे ऐसी भीड़ कभी नही देखे थे। भीड़ का अंदाजा इस बात से लगाया जाता हैं कि भीड़ नियंत्रित करने के लिए मंदिर परिसर में जो बेरिकेड्स लगाए गए थे वे भी टूट गए। भीड़ को देख लोगों ने अनुमान लगाया है कि दोपहर बाद तक ढाई लाख से अधिक श्रद्धालु बाबा सिंहेश्वर नाथ का जलाभिषेक कर चुके हैं।

मान्यता है कि बाबा सिंहेश्वर नाथ के कामना लिंग की पूजा से भक्तों की हर मनोकामना पूरी होती है। ऐसी मान्यता है कि राजा दशरथ के लिए ऋषिसृंग ने इसी तपोभूमि पर बाबा सिंहेश्वर नाथ को साक्षी मान कर पुत्रयेष्ठि यज्ञ किया था जिससे उन्हें राम, लक्ष्मण, भारत और शत्रुघ्न जैसे पुत्र की प्राप्ति हुई। चुकी राजा दशरथ की पुत्र प्राप्ति की मनोकामना यहीं पूरी हुई थी, इस लिए इस शिवलिंग को कामना लिंग कहा जाता हैं। इस लिए बाबा के भक्त भी अपनी मनोकामना पूरा करने के लिए यहां पूजा अर्चना को आते हैं। खास कर पुत्र प्राप्ति की कामना को लेकर।