दुस्साहस:अतिक्रमण खाली कराने गए सीओ व टीम पर हमला जेसीबी का ड्राइवर भर्ती, 25 पर लोगों पर केस दर्ज

मधेपुरा/ घैलाढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस पर हमला करने के लिए दौड़ते लोग। - Dainik Bhaskar
पुलिस पर हमला करने के लिए दौड़ते लोग।
  • घैलाढ़ प्रखंड के भान टेकठी पंचायत के भान वार्ड-8 में शुक्रवार को हुई घटना, सरकारी भूमि पर कई लोगों का अतिक्रमण
  • अतिक्रमित जमीन पर बनना है पंचायत सरकार भवन, नोटिस देने के बाद भी नहीं किया खाली

जिले के घैलाढ़ प्रखंड के भान टेकठी पंचायत के भान वार्ड-8 में शुक्रवार को अतिक्रमण खाली कराने गए सीओ और पुलिस बल को अतिक्रमणकारियों ने खदेड़ दिया। इस दौरान लोगों ने पदाधिकारियों और पुलिसकर्मियों पर ईंट-पत्थर भी फेंके। इससे कई कर्मी और पुलिस वाले हल्के चोटिल हुए। हालांकि सभी लोग किसी प्रकार से जान बचाकर वहां निकले। लेकिन ग्रामीणों की चपेट में आए जेसीबी के ड्राइवर की उनपलोगों ने जमकर पिटाई की। साथ ही जेसीबी को भी क्षतिग्रस्त कर दिया। घटना में 25 नामजद और 25 अज्ञात पर केस दर्ज करने के लिए सीओ चंदन कुमार ने सदर थाना में आवेदन दिया है। घटना शुक्रवार दोपहर की। बताया जा रहा है कि भान वार्ड-8 के सोनाय स्थान स्थित सरकारी जमीन पर पंचायत सरकार भवन बनाया जाना है। इस सरकारी जमीन पर कई लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। अतिक्रमण खाली करने के लिए उनलोगों को कई बार नोटिस भी किया गया। बावजूद वे लोग उक्त जमीन पर से कब्जा नहीं हटाए। इसके बाद शुक्रवार की दोपहर को जेसीबी व पुलिस बल के साथ सीओ चंदन कुमार अतिक्रमण खाली कराने गए। सीओ श्री कुमार ने बताया कि शुक्रवार को जब वे लोग अतिक्रमण हटवाने के लिए गए थे, तो उनलोगों से पहले कहा गया कि वे ही अपने सामान को वहां से हटा लें। इसके बाद उनलाेगों ने पदाधिकारियों से ही कहा कि अतिक्रमण हटवा लें। फिर जैसे ही अतिक्रमण हटाने के लिए जेसीबी आगे बढ़ाया गया, ईंट-पत्थर, बांस-बल्ला आदि लेकर आए अतिक्रमाकारियों ने उनलोगों पर हमला कर दिया।

अतिक्रमणकारियाें के हमला का पुलिस ने नहीं किया प्रतिकार
बताया जा रहा है कि अतिक्रमण हटाने के लिए घैलाढ़ सीओ चंदन कुमार, मजिस्ट्रेट आशीष सिंह, मिठाई पुलिस शिविर प्रभारी रविश रंजन सहित दो दर्जन से अधिक पुलिस के जवान जेसीबी लेकर पहुंचे थे। इस दौरान आक्रोशित अतिक्रमणकारियों ने एकजुट होकर पुलिस प्रशासन, मजिस्ट्रेट, सीओ सहित जेसीबी पर लाठी, बांस एवं पत्थरबाजी करने लगे। दोनों ओर से एक-दूसरे को खदेड़ा जाने लगा। हमला इस कदर बढ़ गया कि सभी पुलिस के जवान एवं पदाधिकारी अपनी-अपनी जान बचा कर इधर-उधर भाग निकले। जबकि पदाधिकारियों के साथ गई पुलिस जवान भी सिर्फ खुद को बचाते दिखे। इससे अतिक्रमणकारियों का मनोबल और बढ़ गया। इसके बाद तो उनलोगों ने जेसीबी के ड्राइवर विकास कुमार को गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। चालक का बायां हाथ फ्रैक्चर हो जाने की बात सामने आ रही है। आनन-फानन में घायल जेसीबी चालक को सदर अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया। जबकि घटना के बाद अंचलाधिकारी चंदन कुमार घटनास्थल से निकलने में सफल रहे। हालांकि मजिस्ट्रेट आशीष सिंह और मिठाई ओपी प्रभारी रविश रंजन को स्थानीय लोगों ने मुखिया विकास कुमार के दरवाजे पर रोक लिया और अतिक्रमणकारियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए अतिक्रमण मुक्त कराने की मांग की। अतिक्रमणकारियों के हमले से जेसीबी का सभी शीशा टूट गया।

अस्पताल में भर्ती घायल ड्राइवर।
अस्पताल में भर्ती घायल ड्राइवर।

अतिक्रमण हटाने के दौरान हुई घटना की जानकारी लिखित में प्रतिनियुक्त मजिस्ट्रेट देंगे। इसके आधार पर दोषियों पर कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल अभी पुलिस की ओर से कोई कार्रवाई नहीं की गई है।
रविश रंजन, ओपी प्रभारी, मिठाई

अतिक्रमण मुक्त कराने गए पदाधिकारियों के साथ हुई घटना अशोभनीय है। इस घटना में जो-जो लोग शामिल हैं, उन सभी के ऊपर कार्रवाई होनी चाहिए।
विकास मंडल, मुखिया, भान

अतिक्रमणकारियों ने पदाधिकारियों पर अचानक से हमला कर दिया। इसमें जेसीबी का चालक गंभीर रूप से घायल हो गया। जेसीबी को भी क्षतिग्रस्तर कर दिया गया। मामले में 25 नामजद और 25 अज्ञात पर केस दर्ज कराया जा रहा है।
चंदन कुमार, सीओ, घैलाढ़

खबरें और भी हैं...