कैंपस अलर्ट:विश्वविद्यालय के सभी अंगीभूत एवं संबद्ध कॉलेजों में लागू होगा ईआरपी: डीएसडब्ल्यू

मधेपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • ईआरपी के गठित कमेटी को लेकर शुक्रवार को हुई बैठक

बीएनएमयू और इसके सभी अंगीभूत एवं सम्बद्ध महाविद्यालयों में उद्यम संसाधन योजना अर्थात् एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ईआरपी) का कार्यान्वयन करने की योजना है। इसके सभी पहलुओं एवं इससे जुड़े सभी मामलों पर सम्यक् विचार के लिए समिति की बैठक शुक्रवार को डीएसडब्ल्यू प्रो. (डॉ.) पवन कुमार की अध्यक्षता में आयोजित हुई। इसमें उद्यम संसाधन योजना अर्थात् एंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ईआरपी) लागू करने का निर्णय लिया गया। साथ ही ईआरपी के क्रियान्वयन के लिए अपनाई जाने वाली प्रशासनिक एवं वित्तीय प्रक्रियाओं और उपलब्ध संसाधनों के बेहतर उपयोग आदि के संबंध में आवश्यक निर्णय के लिए शीघ्र ही सभी अंगीभूत एवं संबद्ध महाविद्यालय के प्रधानाचार्यों की बैठक आयोजित की जाएगी।

नैक मूल्यांकन कार्य में आएगी एकरुपता
कुलसचिव प्रो. (डॉ.) मिहिर कुमार ठाकुर ने बताया कि ईआरपी एक प्रकार के सॉफ्टवेयर को संदर्भित करता है, जिसके माध्यम से विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय अपने दिन-प्रतिदिन के कार्यों एवं गतिविधियों का प्रबंधन कर सकते हैं। इसके लागू होने से नैक मूल्यांकन कार्यों में गतिशीलता एवं एकरुपता लाने और शैक्षणिक एवं गैर-शैक्षणिक कार्यों एवं गतिविधियों के सुगम एवं पारदर्शी संचालन में मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि बैठक के कार्यवृत को कुलपति के समक्ष प्रस्तुत किया जाएगा और कुलपति के अनुमोदनोपरंत इसे अधिसूचित करते हुए अग्रेतर कार्रवाई की जाएगी। इस अवसर पर बीएसएस कॉलेज, सुपौल के प्रधानाचार्य प्रो. (डॉ.) संजीव कुमार, एचपीएस. कॉलेज, निर्मली के प्रधानाचार्य प्रो. (डॉ.) उमाशंकर चौधरी, केपी कॉलेज, मुरलीगंज के प्रधानाचार्य डॉ. जवाहर पासवान, पार्वती विज्ञान महाविद्यालय, मधेपुरा के प्रधानाचार्य प्रो. (डॉ.) अशोक कुमार, मधेपुरा कॉलेज, मधेपुरा के प्रधानाचार्य डॉ. अशोक कुमार, यूवीके कॉलेज, कड़ामा- आलमनगर के प्रधानाचार्य डॉ. माधवेन्द्र झा एवं जनसंपर्क पदाधिकारी डाॅ. सुधांशु शेखर उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...