लापरवाही का आरोप:घाव के ऑपरेशन के बाद इलाज के दौरान किशाेरी की हो गई मौत

मधेपुराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मौत के बाद शव ले जाते परिजन। - Dainik Bhaskar
मौत के बाद शव ले जाते परिजन।
  • परिजनों ने निजी क्लिनिक के चिकित्सक पर लगाया लापरवाही का आरोप

सदर अस्पताल के आईसीयू में भर्ती एक मरीज को गंभीर स्थिति होने पर मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। इसके बाद उसकी मौत हो गई। मृतका की पहचान सहरसा जिला के सौरबाजार थाना क्षेत्र के पस्तपार वार्ड- 2 के निवासी स्व. हरेंद्र प्रसाद की 22 वर्षीय पुत्री गुड़िया कुमारी के रूप में की गई। मृतका के भाई आकाश कुमार ने बताया की उसकी बहन को घाव होने पर एक चिकित्सक के निजि क्लिनिक में ऑपरेशन कराया गया था। उन्होंने बताया कि ऑपरेशन के बाद उसकी स्थिति नाजुक होने पर वहां से चिकित्सक उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया। परिजनों द्वारा सोमवार को सदर अस्पताल के आईसीयू वार्ड में भर्ती करा गया। बताया कि आईसीयू वार्ड में भी उसकी स्थिति ज्यादा बिगड़ती ही जा रहा थी। इसलिए उसे सदर अस्पताल से भी मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया गया। मंगलवार को मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया। जहां चिकित्सक ने उसकी मौत की पुष्टि कर दी। मौत की खबर सुनते ही परिजन अस्पताल परिसर में रोने बिलखने लगे। मृतका के भाई ने डॉ. परवेज अख्तर पर इलाज के दौरान लापरवाही बरतने का आरोप लगाया है। इस संबंध में डॉ. परवेज ने बताया कि उक्त मृतका का ऑपरेशन के बाद उसे खून की कमी होने पर उसे खून चढ़ने के लिए सदर अस्पताल रेफर किया गया था। हालांकि उन्होंने मृतका के परिजनों द्वारा इलाज में लापरवाही बरतने की आराेप काे बेबूनियाद बताया है।

खबरें और भी हैं...