एनसीसी दिवस:सेवा, समर्पण और अनुशासन का प्रतीक एनसीसी, दूसरों के लिए प्रेरणा: डॉ. अशोक

मधेपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एनसीसी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम का उद्धाटन करते अतिथि। - Dainik Bhaskar
एनसीसी दिवस पर आयोजित कार्यक्रम का उद्धाटन करते अतिथि।
  • मधेपुरा कॉलेज में 17वीं बिहार बटालियन के कैडेटों ने मनाया

मधेपुरा कॉलेज में 17वीं बिहार बटालियन की ओर से रविवार को एनसीसी दिवस मनाया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रधानाचार्य डॉ. अशोक कुमार ने की। उन्होंने कहा कि देश व समाज की सेवा हो या फिर पर्यावरण संरक्षण, बाढ़, भूकंप, सुनामी, मिशन नारी शक्ति, गंगा सफाई और यहां तक कि कोरोना संक्रमण से बचाव की बात हो, एनसीसी कैडेट्स ने सबमें अहम भूमिका निभाकर अपनी अलग पहचान बनाई है। इनकी सेवा, समर्पण और अनुशासन हर किसी के लिए प्रेरणा है। उन्होंने कहा कि देश को अनुशासन, राष्ट्रीय एकता और देश प्रेम का उदाहरण प्रस्तुत करने के लिए जिस समर्पण से एनसीसी काम कर रहा है, उसकी सराहना जरूरी है। सेना की मदद और देश के निर्माण में युवाओं की भागीदारी बढ़ाने के लिए ही 1948 में एनसीसी का गठन किया, जिसके सकारात्मक परिणाम देखने को मिल रहे हैं। जिम्मेदार नागरिक बनने के लिए मंच प्रदान करता है एनसीसी : अभिषद सदस्य सह एनसीसी पदाधिकारी कैप्टन गौतम कुमार ने कहा कि एनसीसी युवाओं को जिम्मेदार नागरिक बनने में मदद करेगी और उन्हें नेतृत्व के गुण हासिल करने में भी मदद करेगी। गौतम ने कहा कि एनसीसी युवा छात्रों को विकसित होने और जिम्मेदार नागरिक बनने के लिए एक मंच प्रदान करता है। उन्होंने छात्रों से एनसीसी में शामिल होने और देश की सेवा करने का आह्वान किया। इस अवसर पर डाॅ. भगवान मिश्र, नीतीश आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...