• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Madhepura
  • The Third Youth Who Was Serious After Drinking Poisonous Substances Also Died, The Eyesight Of The Fourth Is Returning

मौत पर सवाल:जहरीला पदार्थ पीने से गंभीर रहे तीसरे युवक की भी हुई मौत, चौथे की लौट रही आंख की रौशनी

मधेपुरा/ चौसाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मायागंज अस्पताल में भर्ती चौसा के घोषई का प्रभात। - Dainik Bhaskar
मायागंज अस्पताल में भर्ती चौसा के घोषई का प्रभात।
  • चौसा थाना क्षेत्र के घोषई में शनिवार को चार लोगों ने कथित तौर पर एक साथ पी थी अत्यधिक शराब

चौसा थाना क्षेत्र के घोषई में कथित रूप से शराब का अत्यधिक सेवन करने से गंभीर रूप से बीमार हुए सहरसा जिले के रामपुर निवासी तीसरे युवक की भी पटना के आईजीआईएमएस में मंगलवार को मौत हो गई। उसका ससुराल भी घोषई में था। मृतक की पहचान मानस कुमार झा के रूप में की गई है। जबकि भागलपुर के मायागंज अस्पताल में भर्ती चौथे युवक प्रभात की स्थिति में अब सुधार हो रहा है। मंगलवार को उसे धीरे-धीरे आंख से दिखाई भी देने लगा था। फिलहाल इंडाेर वार्ड में उसे भर्ती किया गया है। जहां इलाज चल रहा है। युवक के चिकित्सा से जुड़े स्वास्थ्यकर्मियों ने भी नाम नहीं छापने की शर्त पर बताया कि शराब के कारण ही ऐसी घटना हुई है। प्रभात का दो बार डायलिसिस किया गया। इसकी आंख की रोशनी भी प्रभावित हो गई थी। हालांकि अब डायलिसिस नहीं किया जाएगा। मालूम हो कि चौसा थाना क्षेत्र के घोषई में कथित तौर पर अत्यधिक शराब का सेवन करने से रविवार की शाम को घोषई निवासी सुबोध झा के दामाद सहरसा निवासी आलोक झा की और सोमवार को श्री झा के इकलौते पुत्र अभिनव कुमार की मौत हो गई थी। युवक की मौत के बाद उसका पोस्टमार्टम कराया गया। साथ ही जहर की पहचान के लिए उसका बिसरा भी सुरक्षित रख लिया गया है। हालांकि सुबोध झा ने पड़ोसी प्रभात कुमार, अपने भतीजे दिलखुश कुमार और उसकी मां रतन माला देवी पर उनकी संपत्ति हड़पने की नीयत से षड्यंत्र रच कर कोका कोला कोल्ड ड्रिंक में नशीला जहरीला पदार्थ मिलाकर बेटा और दोनों दमाद को पिलाकर हत्या करवाने के केस चौसा थाना में दर्ज कराया गया है।

मृतक युवक अभिनव की बहन ने सरकार को जीभर कर कोसा
घटना को लेकर कुछ वीडियो वायरल हो रहे हैं, इसमें मृतक युवक अभिनव कुमार की बहन और आलोक व मानस की साली काजू कुमारी सरकार को जमकर कोस रही है। हालांकि दैनिक भास्कर वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। वीडियो में काजू बोल रही है कि शनिवार की रात्रि में दोनों जीजाजी, भैया (अभिनव) और एक पड़ोसी (प्रभाकर) बोले कि चलो एक साथ सभी लोग पार्टी करते हैं। इसके बाद वह लोग छत पर चले गए। हम लोगों को जानकारी नहीं थी कि वह लोग पार्टी में शराब पीएंगे। अगर जानकारी होती तो पीने नहीं देते। शराब की बोतल ब्रांडेड ही थी, लेकिन शराब डुप्लीकेट निकला। उसमें कुछ टेबलेट भी मिला हुआ था। जिससे इन लोगों की जानें चली गई। उसका कहना है कि जीजाजी को डेढ़ साल का एक बच्चा है और मेरी बहन प्रेग्नेंट है। अब उसकी देखभाल कौन करेगा। जब वह पढ़ने जाती थी तो भाई साथ जाता था। उसका कहना था कि गांव में ही एक नाश्ता की दुकान पर शराब बिकता है। इनके अलावा भी सभी जगह शराब बिकता है। पुलिस को सभी जगह रेड मारना चाहिए। शराबबंदी फेल है। मालूम हो कि एक अन्य वीडियो में मृतक युवक के पिता सुबोध झा को कहते सुना जा रहा है कि उनके एक दामाद ने शराब लाने के लिए प्रभात कुमार को रुपए दिए थे। साथ ही शराब की चार छोटी बोतल होने की बात कर रहे हैं। सभी लोगों ने छत पर बैठकर शराब पी थी।

पार्टी के बाद तीन बजे तक सोया रहा भाई
एक अन्य वीडियो में गंभीर रूप से बीमार प्रभाकर की बहन बता रही है कि जब उसका भाई तीन बजे तक सोया रहा तो उसकी मां उसे जगाने गयी। तो प्रभाकर को पता चला की जीजाजी (आलोक और मानस) सब अस्पताल मे भर्ती हैं। इसके बाद प्रभाकर ने भी बोला की उसे भी अस्पताल ले चलो। उसकी तबियत भी खराब लग रही है। बाद में उसकी आंख की रोशनी प्रभावित होने लगी। मालूम हो कि दोनों परिवार का घर एक साथ ही है।

मरीज की स्थिति में हो रहा सुधार, इलाजरत
मरीज का दाे डायलिसिस हाे गया है, अब नहीं करेंगे। उसमें तेजी से सुधार हाे रहा है, अब उसे धीरे-धीरे आंखाें से दिखाई भी देने लगा है। फिलहाल इंडाेर वार्ड में उसे भर्ती किए हैं, इलाज चल रहा है।
डाॅ. राजकमल चाैधरी, यूनिट इंचार्ज, मायागंज मेडिकल कॉलेज

खबरें और भी हैं...