जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज में खुला ब्लड बैंक:आपके रक्तदान से बच सकती है किसी की अनमोल जिंदगी

मधेपुरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ब्लड बैंक का शुभारंभ करते डीएम - Dainik Bhaskar
ब्लड बैंक का शुभारंभ करते डीएम

जननायक कर्पूरी ठाकुर मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल स्थित ब्लड बैंक का बुधवार को विधिवत शुभारंभ डीएम श्याम बिहारी मीणा ने फीता काटकर किया। इस मौके पर कई रक्तवीरों ने अपना रक्तदान किया। सबसे पहले वार्ड 19 निवासी आशीष यादव की पत्नी निशी राज ने सबसे पहले रक्तदान कर ब्लड बैंक की शुरुआत की। मौके पर डीएम ने कहा कि रक्तदान महादान होता है। धीरे-धीरे लोग इसका महत्व समझने लगे हैं और रक्तदान के प्रति जागरूकता का माहौल भी देखने को मिल रहा है।

फिर भी बहुत सारे जिनको अभी अभी रक्तदान करने से डर लगता है। इसलिए हमारा कृतव्य है कि हम उन्हें जागरूक करें। हमको यह भावना जन-जन तक पहुंचानी चाहिए कि रक्तदान महादान है। इससे लाखों लोगो की जिंदगी बच सकती है। अगर आप की वजह से किसी की ज़िन्दगी बचती है तो आपको जो संतुष्टि का एहसास होगा उसे शब्दों में बयां करना मुमकिन नहीं हैं। डीएम ने स्वयंसेवी संस्था द्वारा हाल के दिनों में रक्त दान के प्रति जागरूकता फैलाने पर प्रसन्नता व्यक्त किया। समय आ गया है कि लोग रक्तदान के प्रति अपनी सोच को बदलें। मौके पर प्राचार्य डॉ. भूपेन्द्र प्रसाद, अधीक्षक समेत अन्य चिकित्सक मौजूद थे।

ब्लड बैंक में दो डोनर कोच

ब्लड बैंक के प्रभारी डॉ. अंजनी कुमार ने कहा कि मेडिकल कॉलेज का ब्लड बैंक अपने आप में काफी सुसज्जित व आधुनिक है। तत्काल दो डोनर कोच लगे हैं। यहां कोई भी आदमी ब्लड डोनेट कर सकता है। जिनको ब्लड की जरूरत होगी व ब्लड देकर जरूरत के ग्रुप का ब्लड प्राप्त कर सकते हैं।

सामाजिक क्षेत्र में जिले का मान बढ़ाने वाली राज्यस्तरीय सम्मान प्राप्त समाज सेविका गरिमा उर्विशा ने बताया, यह उनका सौभाग्य है कि उनका रक्त किसी जरूरतमंद के शरीर में बहेगा और उनके एक रक्तदान से 3 अलग-अलग लोगों की जान बचाई जा सकती है। वे रक्तदान कर गौरवान्वित महसूस कर रही हैं। रक्त परिधान परिषद के राज्य प्रभारी डॉ. एनके गुप्ता, डॉ. जीतेन्द्र लाल, डॉ. नगीना चौधरी आदि मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...