मधेपुरा में युवक की गोली मारकर हत्या:पत्नी की हत्या के प्रयास मामले में हुई थी जेल, एक माह पहले जमानत पर बाहर आया था

मधेपुरा2 महीने पहले

दहेज के लिए हत्या की नीयत से पत्नी को गोली मारकर घायल करने के मामले में एक माह पूर्व ही जेल से जमानत पर बाहर आए युवक की गोली मारकर हत्या कर दी गई है। घटना ग्वालपाड़ा थानाक्षेत्र के शाहपुर वार्ड-10 की है। मृतक की पहचान वार्ड-10 निवासी अनिल सिंह के 22 वर्षीय पुत्र पुष्पराज उर्फ अमन कुमार सिंह के रूप में की गई। ग्वालपाड़ा थानाध्यक्ष विजय कुमार पासवान ने बताया कि मामले की छानबीन की जा रही है।

युवक के परिजनों का कहना है कि बुधवार की देर शाम लगभग 8 बजे पुष्पराज को किसी का फोन आया था। इसके बाद उसने घरवालों को बताया कि वह थोड़ी देर में लौट कर आ जाएगा। लेकिन रात भर वह लौट कर नहीं आया। घरवालों ने रात को उसकी काफी खोजबीन की, लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। इसके बाद सुबह में जब लोग टहलने के लिए घरों से निकले, तो सड़क किनारे एक लाश को देखा।

लाश की पहचान पुष्पराज उर्फ अमन कुमार के रूप में की गई। लाश को देखने से ऐसा प्रतीत होता है कि पहले उसके साथ जमकर मारपीट की गई, उसके बाद उसके शरीर में तीन गोली भी मारी गई। फिलहाल अभी तक घटना के कारणों का पुलिस खुलासा नहीं कर पाई है। दूसरी और बताया जा रहा है कि अमन भी संदिग्ध आचरण का लड़का था। उस पर ग्वालपाड़ा और बिहारीगंज थाना में एक हत्या, एक हत्या का प्रयास और एक लूटपाट का मामला दर्ज है।

स्कूल में पढ़ते हुए किया था प्रेम विवाह

बताया जाता है अमन ने वर्ष 2020 में अपने स्कूल में पढ़ने वाली सहरसा जिले के सोनवर्षा थानाक्षेत्र के सोहा निवासी तन्वी परासर से प्रेम विवाह कर लिया था। इसके बाद तन्वी अपने ससुराल में ही रहती थी। लेकिन कुछ ही दिनों के बाद उसपर दहेज लाने का दबाव बनाया जाने लगा। इस कारण से उससे मारपीट भी की जाती थी।

तन्वी ने जो केस दर्ज कराया था, उसके अनुसार, अमन आपराधिक चरित्र का था, उसका उठना-बैठना भी वैसे ही लड़कों से था। इस बीच 19 अगस्त 2020 की शाम को अमन कमरे में आया और पिस्टल दिखाकर पत्नी को दहेज के लिए गोली मार देने की धमकी देने लगा। इसके बाद गुस्से में आकर अमन ने तन्वी को सीने के नीचे गोली मार दी थी। हालांकि 10 दिनों तक इलाज चलने के बाद तन्वी ने पति व ससुराल वालों पर केस दर्ज कराया था। इसी मामले में उसे पुलिस ने गिरफ्तार किया था। जिसमें उसकी गिरफ्तारी हुई थी। उसी मामले में एक माह पूर्व अमन जेल से बाहर आया था।

खबरें और भी हैं...