बांधों की मरम्मत का कार्य शुरू नहीं:बेनीपट्टी में 8 करोड़ 52 लाख 83 हजार रुपए से बांधों की मरम्मत हाेगी, बाढ़ से पहले हाेगा काम

बेनीपट्टीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

21 मई को दैनिक भास्कर में बेनीपट्टी में बांधों की मरम्मत का कार्य शुरू नहीं हुआ, ऊंचे स्थलों की तलाश कर रहे हैं लोग, शीर्षक से प्रकाशित खबर का असर हुआ है। बाढ़ नियंत्रण प्रमंडल झंझारपुर वन के कार्यपालक अभियंता ने दैनिक भास्कर में प्रकाशित खबर का हवाला देते हुए कार्यालय पत्रांक 598 के द्वारा अधीक्षण अभियंता बाढ़ नियंत्रण अंचल दरभंगा को कार्यों का नाम, राशि की प्रशासनिक स्वीकृति और अद्यतन स्थिति का प्रतिवेदन सूचनार्थ एवं आवश्यक कार्रवाई के लिए सौंपा है।

कार्यपालक अभियंता ने अधीक्षण अभियंता से कहा है कि बेनीपट्टी प्रखंड के विभिन्न जमींदारी बांधों करहरा-बिरदीपुर, करहरा-1 जमींदारी बांध, करहरा-3 जमींदारी बांध, त्रिमुहान-सोहरौल ग्राम के बीच जुड़ी पक्की सड़क, त्रिमुहान विद्यालय के निकट जमींदारी बांध, करहरा-सोहरौल जमींदारी बांध के निकट तीन अदद टूटान बंधाई, करहरा जमींदारी बांध में भोला मंदिर के निकट, करहरा-सोहरौल जमींदारी बांध में कटाव निरोधक कार्य भाग-1 एजेंडा नंबर 182/46/2022 में शामिल है। इसकी प्रशासनिक स्वीकृति की राशि 401.28 लाख है।

कार्यावंटित होते ही संवेदक से एकरारनामा कर बाढ़ 2022 से पूर्व कार्य करा लिया जाएगा। अन्य स्थलों पर जहां कटाव निरोधक कार्य स्वीकृत नहीं है, तटबंधों में कटाव परिलक्षित होने पर आवश्यक बाढ़ संघर्षात्मक कार्य कराकर बाढ़ अवधि में स्थल को सुरक्षित रखा जाएगा। संवेदनशील स्थलों पर बाढ़ पूर्व तैयारी के तहत स्थानीय बालू एवं बालू भरे बोरे का भंडारण भी आवश्यकतानुसार किया जाएगा।

वहीं बेनीपट्टी प्रखंड के विभिन्न जमींदारी बांधों पाली जमींदारी बांध में बरदाहा गांव के निकट, पाली जमींदारी बांध के किलोमीटर 8.00 से 13.00 के बीच, रानीपुर-मतरहरी जमींदारी बांध में करहराघाट, अगरोपट्टी-बसैठ जमींदारी बांध के पोखर-चिमनी के निकट, अगरोपट्टी-बसैठ जमींदारी बांध के बिशनपुर ग्राम के निकट, अगरोपट्टी-बसैठ जमींदारी बांध के अगरोपट्टी ग्राम के निकट बाढ़ निरोधी फाटक, चानपुरा घेरा बांध के बाढ़ निरोधी फाटक-3 के निकट, चानपुरा घेरा बांध के बाढ़ निरोधी फाटक-1 के निकट कटाव निरोधक कार्य भाग-2 का एजेंडा संख्या 182/47/2022 है। इसकी प्रशासनिक स्वीकृति राशि 451.55 लाख है। इसमें 19 मई 2022 को निविदा प्राप्त की गई है। निविदा निष्पादन की प्रक्रिया में है।

संवेदक से इकरारनामा कर बाढ़ से पूर्व कार्य कराया जाएगा, काम की निगरानी भी होगी
कार्यावंटित होते ही संवेदक से एकरारनामा कर बाढ़ 2022 से पूर्व कार्य करा लिया जाएगा। अन्य स्थलों पर जहां कटाव निरोधक कार्य स्वीकृत नहीं है, तटबंधों में कटाव परिलक्षित होने पर आवश्यक बाढ़ संघर्षात्मक कार्य कराकर बाढ़ अवधि में स्थल को सुरक्षित रखा जाएगा। संवेदनशील स्थलों पर बाढ़ पूर्व तैयारी के तहत स्थानीय बालू एवं बालू से भरे बोरे का भंडारण भी आवश्यकतानुसार किया जाएगा।

वहीं दूसरी ओर, जलसंसाधन विभाग पटना के अध्यक्ष तकनीकी सलाहकार समिति सह मुख्य अभियंता ई. राकेश कुमार ने अभियंता प्रमुख बाढ़ नियंत्रण एवं जल निस्सरण जलसंसाधन विभाग बिहार पटना को विशेष राज्य तकनीकी सलाहकार समिति की 182 वीं बैठक में लिए गए निर्णय के आलोक में योजनाओं का अनुशंसा प्रतिवेदन समर्पित किया है।

इसमें बेनीपट्टी के करहरा-बिरदीपुर जमींदारी बांध, करहरा-1 जमींदारी बांध, करहरा-3 जमींदारी बांध, पक्की सड़क त्रिमुहान-सोहरौल, जमींदारी बांध नियर त्रिमुहान स्कूल, करहरा-सोहरौल जमींदारी बांध, करहरा जमींदारी बांध नियर भोला मंदिर एवं करहरा-सोहरौल जमींदारी बांध पार्ट-1 के कार्यों का उल्लेख किया गया है।

खबरें और भी हैं...