लोकार्पण:मैथिली निबंध संग्रह लोक दृष्टि पुस्तक का लोकार्पण हुआ

झंझारपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मैथिली भाषा में लिखित डॉक्टर गौरी चौधरी की निबंध संग्रह लोक दृष्टि का लोकार्पण मंगलवार को किया गया। आरएस बाजार स्थित कैथीनिया गुमटी पथराही के निकट डॉक्टर डी चौधरी के आवासीय परिसर में साहित्य पुस्तक का विमोचन हुआ। पुस्तक का विमोचन मुख्य अतिथि अजीत आजाद, साहित्यकार डॉक्टर खुशीलाल झा, केशव किशोर मिश्र,डॉक्टर बुचरु पासवान, डॉक्टर गौरी चौधरी, प्रधानाचार्य चंद्रशेखर झा, डॉक्टर महेंद्र नारायण राम, प्रोफेसर चंद्रशेखर पासवान, प्रोफेसर हरिओम साहू, मलय नाथ मिश्र, प्रभा देवी, डॉ. डी चौधरी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। मुख्य अतिथि के तौर पर अपने संबोधन में साहित्य अकादमी पुरस्कार प्राप्त अजीत आजाद ने कहा कि मैथिली भाषा में लोक साहित्य पर स्त्री लेखन का यह पहला उदाहरण है। आज तक मैथिली साहित्य के इतिहास में स्त्री लेखन की लंबी श्रृंखला होने के बावजूद डॉक्टर गौरी चौधरी पहली लेखिका हैं, जिन्होंने दलित साहित्य और लोक साहित्य पर पुस्तक की रचना की है। यह पुस्तक मिथिला के लोक संस्कृति, लोक आस्था और लोकगाथा को जानने व समझने के लिए महत्वपूर्ण पोथी के रूप में याद किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...