कार्यक्रम:भूमि विवाद से जुड़े आधा दर्जन मामलाें का निष्पादन किया गया

मधुबनी11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भूमि विवाद से संबधित मामलों की सुनवाई करते अधिकारी। - Dainik Bhaskar
भूमि विवाद से संबधित मामलों की सुनवाई करते अधिकारी।
  • कुछ मामलाें में सुनवाई के लिए अगली तारीख दी गई

भूमि संबधी विवादों के निपटारे को लेकर बिस्फी थाना परिसर एवं पतौना ओपी परिसर में शनिवार को थाना दिवस का आयोजन कर आधा दर्जन मामलों का निष्पादन किया गया। जबकि अन्य मामलों में आवश्यक कागजात की मांग की गई। सीओ श्रीकांत सिन्हा एवं थानाध्यक्ष राजकुमार राय तथा पतौना ओपी में ओपी अध्यक्ष प्रह्लाद शर्मा के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित थाना दिवस पर बिस्फी थाना पर पांच मामलों की सुनवाई कर निष्पादन किया गया। जबकि दो मामलों में वादी तथा प्रतिवादी से आवश्यक कागजात की मांग की गई। पतौना ओपी पर आयोजित थाना दिवस पर एक मामले का निष्पादन तथा एक की सुनवाई की गई।

बिस्फी थाना क्षेत्र के सिंघिया गांव में नगीना खातून एवं सखी नदाफ, रघौली पंचायत के मरबा गांव के निराला देवी बनाम शोभाकांत मिश्र, भटरा घाट के रामगुलाम बनाम शिवचंद्र साह, धजवा के राजाराम यादव बनाम सुशील यादव, बलहा के स्नेहा खातून बनाम रिजबानुल हक के बीच जमीनी विवाद का निपटारा किया गया। जबकि रघौली के रामकरण ठाकुर बनाम राजेन्द्र ठाकुर तथा धजवा के महेंद्र यादव बनाम सुशील यादव को आवश्यक कागजात के साथ अगले थाना दिवस पर उपस्थित होने को कहा गया। उसी तरह पतौना ओपी क्षेत्र के तेघरा गांव निवासी मुकेश शर्मा बनाम बिंदेश्वर चौपाल के बीच जमीनी विवाद का निष्पादन की गई।जबकि दमला गांव निवासी मो. खालिद वनाम अब्दुल मलिक के बीच चल रहे विवाद को अगले थाना दिवस पर सुनवाई के लिए रखा गया है।

भूमि विवाद से जुड़े कई मामलों का किया गया निष्पादन

डीएम अमित कुमार के निर्देश के आलोक में शनिवार को थाना दिवस के अवसर पर जिले के सभी थानों में भूमि विवाद के मामलों पर त्वरित सुनवाई को लेकर अंचलाधिकारियों व थानाध्यक्षो द्वारा बैठक कर सुनवाई की गई। साथ ही कई मामलों का ऑन स्पॉट निष्पादन भी किया गया। गौरतलब हो कि डीएम द्वारा निर्देश दिया गया था कि भूमिविवाद प्रशासन की सर्वोच्च प्राथमिकता होनी चाहिये। उन्होंने निर्देश दिया है कि सभी सीओ व थानाध्यक्ष प्रत्येक सप्ताह थाना दिवस पर अनिवार्य रूप से भूमिविवाद को लेकर बैठक कर मामलों का त्वरित निष्पादन करेगे एवम ससमय प्रतिवेदन भेजेंगे। साथ ही उन्होनें भूमि विवाद समीक्षा बैठक में कहा था कि भूमि विवाद को लेकर ही अपराध की ज्यादातर घटनाएं होती है। साथ ही कई बार विधिव्यवस्था की भी समस्या उत्पन्न हो जाती है। भूमि विवाद को लेकर आयोजित बैठक का सकरात्मक परिणाम भी नजर आने लगा है। अब तक जिले में भूमिविवाद को लेकर प्राप्त आवेदनों में कई आवेदनों का ऑन स्पॉट निपटारा किया जा चुका है। स्वयं डीएम-एसपी ने भूमि विवाद के कई मामलों की सुनवाई कर उसका त्वरित निष्पादन भी किया है।

खबरें और भी हैं...