पौधाें को सुरक्षित रखने वाले सम्मानित होंगे:पर्यावरण के प्रति जागरूक बनेंगे हाईस्कूल के छात्र

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सरकारी स्कूलों में चलने वाली योजनाओं में एक बार फिर से तेजी लाई जा रही है। ऐसी ही एक योजना राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान ने यह पहल शुरू की थी जिसके तहत जिले के हाईस्कूलों में छात्र छात्राओं को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना था। अभियान के अंतर्गत इको क्लब के सदस्य विद्यालय परिसर में तरह-तरह के वृक्ष लगाना था ।

विद्यालय परिसर में पर्यावरण की रक्षा के लिए पीपल के पेड भी लगाए जाने थे। सभी उच्च विद्यालयों में यह अभियान कुछ दिनों तक चला भी फिर ये योजना भी फाइलों तक सिमट कर रह गयी। वर्ग 9 वीं के छात्र छात्राएं पर्यावरण को सुरक्षित बनाने की मुहिम में जोड़ना था। हाईस्कूल में पौधारोपण के तीन साल बाद तक सभी पौधे सुरक्षित रहेंगे तो इस मुहिम से जुड़े सभी छात्र छात्राओं को पर्यावरण के क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए पुरस्कृत भी किया जाना था।

पौधों की देखरेख लगातार तीन साल तक कक्षा 9 में नामांकित छात्र छात्राएं को करनी थी। सभी सरकारी उच्च विद्यालयों में प्लस टू की पढा़ई होती है । कक्षा 9 के छात्र छात्रा 12 वीं कक्षा तक पौधों की देखभाल करेंगे। तीन साल तक पौधा जीवित रहने पर छात्र छात्राओं को पर्यावरण मित्र के सम्मान से नवाजा जाना था। पर्यावरण का संतुलन बनाए रखने व वृक्षारोपण में गति लाने के लिए जागरूकता अभियान भी चलाया गया था। इस योजना की जानकारी देते हुए शिक्षकों ने बताया कि हर छात्र साल में एक पौधा लगायेगा व इसकी देखरेख करेगा । वे पौधों को सूखने से बचाने के लिए हरसंभव प्रयास करने की थी।

खबरें और भी हैं...