त्याेहार:सामाजिक समरसता के साथ सामूहिक रूप से मनाया गया रक्षाबंधन का पावन त्याेहार

मधुबनी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मुख्य अतिथि ने कहा- रक्षाबंधन काे भाई-बहन तक ही सीमित नहीं रखना है

सुन्दरपुरभिट्ठी पंचायत के अंधरी मुसहरी बस्ती में सामाजिक समरसता के उद्देश्य से आचार्य राघवेन्द्र राघव की ओर से सभी वर्गों के व्यक्तियों के साथ भव्य सामूहिक रक्षाबंधन उत्सव मनाया गया। मुसहर बस्ती में आयोजित रक्षाबंधन उत्सव में राघवेन्द्र ने कहा कि हिंदुस्तान में रहने वाले सभी हिंदू हैं और सभी हिंदू भाई-भाई हैं। कोई भी नीच-ऊंच छोटे बड़े नहीं सभी समान हैं। महापुरुषों का कथन है कि सभी अपने अपने क्षेत्र में अपने-अपने विधा में महान है। इसीलिए सभी सम्माननीय हैं, इसीलिए रक्षाबंधन उत्सव हम सबों को सामूहिक रूप से मनाना चाहिए। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित श्यामसुंदर चौधरी ने कहा रक्षाबंधन उत्सव हमारे जीवन के रक्षा के उद्देश्य से मनाया जाता है जिसमें हम सभी को प्रकृति के सभी अवयव जो हमें हमारे जीवन के रक्षा लिए आवश्यक है सभी में सामूहिक रूप से रक्षा सूत्र बांधे और उसकी रक्षा का संकल्प लें। रक्षाबंधन उत्सव केवल घरों में भाई बहनों तक सीमित ना रखें रक्षाबंधन को उत्सव के रूप में सामूहिक मनाएं।

कार्यक्रम में राकेश पासवान ने कहा रक्षाबंधन पर्व सामाजिक समरसता का पर्व है इसे सामूहिक ही मनाना चाहिए एक साथ मनाने से वंचित समाजों में हीन भावना दूर होता है और आपसी प्रेम बढ़ता है। कार्यक्रम में दीप मंत्र शशांक शेखर, दैनिक पंचांग और रक्षाबंधन गीत नंदनी कुमारी, सुभाषित श्वेता कुमारी, अमृत वचन मीनाक्षी कुमारी और केशव कुमार, मंगल मंत्र अनूप कुमार, स्वस्तिवाचन आचार्य मुरलीधर, सामूहिक गीत सपना कुमारी, रक्षाबंधन मंत्र रानी कुमारी, गोलू कुमार, रोहित कुमार, कार्यक्रम का संयोजन विजय सदाय और उनकी पत्नी ने उत्साह पूर्वक किया, रक्षाबंधन उत्सव मनाने से मुसहर बस्ती में सभी महिला-पुरुष युवा-युवती हर्षित और उत्साहित थे। सभी ने आपस में एक दूसरे को तथा परिसर में लगे विशाल पाकड़ी वृक्ष में सामूहिक रूप से सबों ने रक्षा सूत्र बांधा उत्सव से मिश्री सदाय, बुधन सदाय, विजय सदाय, मुन्ना सदाय, रामाशीष साहु, भोला यादव, शत्रुघ्न पासवान, डोमू राम आदि ने हर्ष व्यक्त किया।

खबरें और भी हैं...