11 एमएम बारिश हुई, 31.4 डिग्री रहा अधिकतम पारा:सामान्य से 5.7 डिग्री नीचे गया अधिकतम तापमान, अभी जिले में और बारिश होने के आसार

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में रविवार को मौसम विभाग के पूर्वानुमान के मुताबिक सुबह हुई झामझम बारिश ने लोगों को गर्मी उमश से लगभग पूर्णतः राहत दी। जिले में 11 एमएम बारिश हुई। वहीं मानसून पूर्व हुई इस बारिश ने किसानों को धान की अच्छी खेती होने के संकेत भी दे दिए हैं। रविवार लगभग सात बजे से बारिश शुरू हुई जो तकरीबन एक घंअे तक लगातार हुई। बारिश के कारण शहर में जगह जगह जलजमाव की स्थिति देखी गई।

इसके बाद आसमान से काले बादल छटे लेकिन पूरे दिन धूप निकलने के बावजूद मौसम सुहावना बना रहा। इस दौरान अधिकतम तापमान सामान्य से 5.7 डिग्री कम के साथ 31.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। वहीं, न्यूनतम तापमान 22 डिग्री दर्ज किया गया जो सामान्य से 2.3 डिग्री कम है। इस दौरान 8 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से पूरवा हवा चली।

डॉआरपीसीएयू पूसा समस्तीपुर और भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार वर्तमान मौसमीय परिस्तिथियों के कारण जिले में वर्षा की संभवाना बनी रहेगी। इस दौरान हल्के से मध्यम वर्षा की सभवाना है। इस दौरान अधिकतम तापमान 33 से 37 डिग्री के बीच रह सकता है। जबकि न्यूनतम तापमान 25 से 27 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है। सापेक्ष आद्रता सुबह में 80 से 90 प्रतिशत तथा दोपहर में 40 से 50 प्रतिशत रहने की संभवाना है। वहीं, 15 से 20 किमी प्रति घण्टा की रफ्तार से पूरबा हवा चलने का अनुमान है।

वर्षा की संभावना को देखते हुए किसानों को तैयार मक्का फसल की कटनी, दौनी को सुखाने के कार्य में सावधानी बरतने की आवश्यकता है। कीटनाशकों का छिड़काव मौसम साफ रहने पर ही करें। अगात मूंग उरद की तैयारी फलियों की तुड़ाई कर लें। पिछात बोयी गई मूंग उरद की फसल में पीला मोजैक रोग की निगरानी करें। वर्तमान में लत्तर वाली सब्जियां जैसे नेनुआं, करैला, लौकी, और खीरा फसलों में मक्खी कीट की निगरानी करें।

खबरें और भी हैं...