27 लाख 50 हजार लोगों ने लिया पहला डोज:टीका लेने में पुरुषों से आगे चल रही है महिलाएं, लक्ष्य को प्राप्त करने में अभी लगेगा समय

मधुबनीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले में कोविड टीकाकरण लक्ष्य से अभी भी काफी दूर है। बार बार डीएम व सिविल सर्जन के निर्देश के बावजूद स्वास्थ्य प्रबंधकों, पीएचसी प्रभारियों, डीआईओ व सहयोगी संस्थाओं की ओर से लक्ष्य प्राप्त नहीं किया जा सका है। इस संबंध में सिविल सर्जन डा. एसके झा ने बताया कि टीका के निर्धारित डोज से वंचितों का टीकाकरण सुनिश्चित कराने के लिए लगातार निर्देश दिएगए हैं साथ ही समय समय पर लापरवाह कर्मियों व अधिकारियों पर कार्रवाई भी की जा रही है।

सभी आशा व एएनएम को अपने पोषक क्षेत्र में टीका के निर्धारित डोज से वंचित लोगों को चिह्नित करते हुए उनका टीकाकरण सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया गया है। मालूम हो कि जिले में पूराना लक्ष्य लगभग 32 लाख है। कोविन पोर्टल के आंकडों के मुताबिक जिले में शनिवार शाम तक 49,15, 923 लोगों का ही टीकाकृत होने का आंकडा दिखाया जा रहा है। प्रथम डोज लेने वालों की संख्या 27 लाख 50 हजार 438 है, जबकि सेकेंड डोज लेने वालों की संख्या 21 लाख 15 हजार व प्रिकार्शन डोज लेने वालों की संख्या सिर्फ 49 हजार 668 है।

जबकि जिला स्वास्थ्य समिति के आंकड़ो के अनुसार यह संख्या अधिक है। कोविन पोर्टल के अनुसार जिसमें 12 से 14 उम्र के 1 लाख 11400, 15 से 17 वर्ष के 2,95,535, 18-44 आयुवर्ग के 27,22,031, 45-60 आयुवर्ग के 9 लाख 25 हजार 792 व 60 से अधिक आयुवर्ग के 8 लाख 54 हजार से अधिक लोगों को टीका दिया गया है। 21 लाख 43 हजार से अधिक पुरूषों ने टीका लिया है जबकि 27 लाख 21 हजार 582 महिलाओं ने टीका लिया।

38 लाख 87 हजार से अधिक लोगों को कोविशील्ड-, 9 लाख 16 हजार से अधिक लोगों को को-वैक्सीन व 1 लाख 11 हजार से अधिक लोगों को कार्वेवेक्स का टीका दिया गया है। स्पूतनिक व जायकोव-डी का एक भी टीका जिले में नहीं दिया गया। सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार झा ने बताया कि जिले में कोविड टीकाकरण में तेजी लाने को लेकर सभी पीएचसी प्रभारियों, अनुमंडलीय अस्पतालों के उपाधीक्षक व डीआईओ को आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए हैं। इसमें किसी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। आवश्यकता पड़ने पर कार्रवाई भी की जाएगी। सीएस ने कहा कि टीका लेकर ही कोरोना को मात दी जा सकती है।

खबरें और भी हैं...