इंज्यूरी रिपोर्ट में फर्जीवाड़ा:सदर अस्पताल में सीटी स्कैन की रिपोर्ट से की छेड़छाड़, नॉर्मल को बनाई ग्रिविएस इंज्यूरी

मोतिहारीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अपने केस को मजबूत करने के लिए 10 लोगों ने मामूली चोट को बनाया गंभीर

सदर अस्पताल में होने वाले सीटी स्कैन की रिपोर्ट में हेराफेरी हो रही है। नार्मल रिपोर्ट को ग्रिवियस रिपोर्ट को दबाकर नकली का इस्तेमाल मेडिको लीगल कार्य में हो रहा है। इस तरह के दस मामले सदर अस्पताल में पकड़ा गया है। सीएस ने मेडिकल बोर्ड गठित कर सभी मामलों की जांच करने को कहा है। संभावना है कि मरीज का फिर से सिटी स्कैन किया जा सकता है। जिसके बाद दोनों रिपोर्ट की मिलान होगी। सदर अस्पताल में सीटी स्कैन की रिपोर्ट के लिए कल्पना सीटी स्कैन सेंटर जो कल्पना नर्सिंग होम प्राइवेट लिमिटेड की इकाई है को अधिकृत किया गया है। सदर अस्पताल में होने वाले सीटी स्कैन की रिपोर्ट कल्पना सीटी स्कैन द्वारा उपलब्ध कराई जाती है। प प्रबंधन को पता चला है कि अज्ञात व्यक्ति एजेंसी से प्राप्त सीटी स्कैन रिपोर्ट को स्कैन कर फर्जी तरीके से डुप्लीकेट रिपोर्ट तैयार कर रहे हंै। इसको मेडिकोलीगल कार्य में इस्तेमाल किया जा रहा है।

सिविल सर्जन ने मेडिकल बोर्ड गठित कर दोबारा जांच करने का दिया निर्देश

रिपोर्ट मेंे 4 डॉक्टर के हस्ताक्षर

ओरिजिनल इंज्युरी रिपोर्ट में नो सिगनिफिकेन्ट एब्नॉर्मलिटी सीन इन ब्रेन पैरेन्काइमा लिखा हुआ है। जिस पर कल्पना सीटी स्कैन के चार डॉक्टर के हस्ताक्षर है। जबकि स्कैन कॉपी पर मल्टीपल फ्रेक्चर ऑफ वाल्स ऑफ राइट मैग्जीलरी साइनस कवरिंग लेसन्स विथ फ्रेक्चर ऑफ राइट ऑर्बिट, राइट जाईगोटिक बोन लिखा हुआ है। जिसके कारण इंज्युरी रिपोर्ट को ग्रेविएस बनाया गया है। सदर अस्पताल से 15 अगस्त को जारी अनुज कुमार, 13 को महदुल्लाह खांं, फरमान मिया, महंथ पूरी, पिता दुखी पूरी, फतुहा नवादा कोटवा सहित कई अन्य के इंज्युरी रिपोर्ट में गड़बड़ी है।

डॉक्टर व अस्पताल कर्मी भी संदेह के घेरे में | इंज्यूरी रिपोर्ट में गड़बड़ी को लेकर डॉक्टर व कर्मी भी संदेह के घेरे में है। ओपीनियन को डॉक्टर को गंभीरता से पढ़ व समझ कर इंज्युरी रिपोर्ट बनाना है।

गलत इंज्युरी रिपोर्ट पर कई बेकसूर हैं जेल में | सदर अस्पताल से निर्गत कई इंज्युरी रिपोर्ट में गड़बड़ी है। जिसके कारण कई निर्दोष व बेकसूर जेल की हवा खा रहे हैं। इस कारण बेल भी जल्दी नहीं मिलती है।

खबरें और भी हैं...