शराबबंदी कानून पर RCP सिंह ने उठाया सवाल:कहा- बिहार के राजस्व में हो रही है क्षति, 2020 चुनाव के बाद कानून वापस लेने का दिया था सलाह

मोतिहारी2 महीने पहले
दो दिवसीय दौरे पर आए हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह।

दो दिवसीय दौरे पर आए हैं पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने बिहार में शराब बंदी कानून पर सवाल उठाया हैं। उन्होंने कहा कि बिहार सरकार की जो शराब नीति है वह बिल्कुल गलत है। बिहार में कोई उद्योग नहीं, जिसका नतीजा है कि बिहार में राजस्व की क्षति हो रही है। वर्ष 2020 के विधानसभा चुनाव खत्म होने के बाद मुख्यमंत्री से कहा था कि राज्य के एक बड़े पैमाने पर राजस्व की क्षति हो रही है।

इसलिए शराबबंदी कानून को एक बार फिर से बदलने की जरूरत है। लेकिन वैसा नहीं किया, गांव में सभी पोल पर लिखा है मद्यपान निषेध। हर घर शराब की डिलीवरी हो रही हैं। शराबबंदी से लेवल राजस्व की क्षति नहीं हो रही हैं। हल्की समाज का जो लोग कमाते वो लोग केवल शराब की तस्करी में लगे हैं।

कहा- नीतीश कुमार का दिन हुआ खत्म आखरी ओवर में खेल रहे हैं

नीतीश कुमार पर तंज कसते हुए कहा कि नीतीश कुमार का दिन खत्म होने वाला है। आखिरी ओवर में बैटिंग कर रहे हैं। हम लास्ट ओवर में जितना रन बनाना है बना लें। 2020 के चुनाव में भी उन्होंने यह बात कहा था कि यह हमारा आखिरी चुनाव है। अगर जुबान के पक्के हैं तो फिर चुनाव नहीं लड़ेंगे।

यही नहीं रुके उन्हों ने बिहार के कानून व्यवस्था पर भी सवाल उठाया कि जिस तेजी से बिहार में कानून व्यवस्था गिर रहा हैं। बिहार के लोग दहशत में हैं। सभी घर से निकलने से डर रहे हैं। लोगो ने एनडीए को बहुमत दिया था। लेकिन चले कहा गए, सभी जानते हैं।

कार्यकर्ता से मिला समर्थन तो बनेगी पार्टी

बिहार के दौरे पर निकले आरसीपी सिंह ने मोतिहारी में जब पत्रकारों ने पार्टी बनाने का सवाल किया तो उस ओर कहा कि अभी हम अपने कार्यकर्ता से मिल रहे हैं। उनका मन जान रहे सभी कार्यकर्ता से मिलने के बाद आप सभी को बता दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...